कब हुए थे भगवान शिव?

कब हुए थे भगवान शिव?

ॐ नम: शिवाय। कोई कहता है कि हिन्दू धर्म लाखों वर्ष से चला आ रहा है और कोई कहता है कि हजारों वर्षों से यह विद्यमान है। हम जानना चाहेंगे कि आखिर सत्य क्या है? कब हुए थे शिव?

पौराणिक प्रमाण-
-जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर महावीर स्वामी का जन्म 599 ईस्वी पूर्व हुआ था। उनके 250 वर्ष पूर्व भगवान पार्श्वनाथ हुए थे। मतलब आज से 2869 वर्ष पहले पार्श्वनाथ हुए। पार्श्वनाथ के समय शिव की पूजा होती थी।

-भगवान श्रीकृष्ण का जन्म 3112 ईस्वी पूर्व हुआ था। मतलब आज से 5132 वर्ष पहले कृष्ण हुए थे। उनके काल में भी शिव की पूजा होती थी।

– भगवान श्रीराम का जन्म 5114 ईस्वी पूर्व हुआ था। मतलब आज से 7134 वर्ष पहले राम हुए थे। उनके काल में भी शिव की पूजा होती थी। उन्होंने रामेश्वरम में शिवलिंग की स्थापना की थी।

– माथुर ब्राह्मणों के इतिहास अनुसार श्रीराम के पूर्वज वैवस्वत मनु का काल 6673 ईसा पूर्व का है जिनके काल में जल प्रलय हुई थी। मतलब 8693 वर्ष पहले उनके अस्तित्व था। उनके काल में भी शिव और विष्णु की पूजा होती थी।

– सम्राट ययाति का उल्लेख वेद और पुराणों में मिलता है। अनुमानित रूप से 7200 ईस्वी पूर्व उनका अस्तित्व था। इसका मतलब 9220 वर्ष पूर्व वे हुए थे। उनके काल में भी ब्रह्मा, विष्णु और शिव की पूजा का प्रचलन था। ययाति प्रजापति ब्रह्मा की 10वीं पीढ़ी में थे।

– हिन्दू धर्म की पुन: शुरुआत वराह कल्प से ही मानी जाती है जो कि 13800 विक्रम संवत पूर्व प्रारंभ हुआ था। इसके पूर्व महत् कल्प, हिरण्य गर्भ कल्प, ब्रह्म कल्प और पद्म कल्प बीच चुके हैं।

– माथुरों के इतिहास के अनुसार स्वायंभुव मनु लगभग 9057 ईस्वी पूर्व हुए थे। संभवत: इससे पूर्व हो सकते हैं। मतलब 11007 वर्ष पूर्व या लगभग 12 हजार वर्ष पहले। उनके काल में भी शिव की पूजा होती थी।

– लगभग 12 से 13 हजार ईस्वी पूर्व प्रजापति ब्रह्मा के होने की बात कही जाती है। मतलब 15 हजार वर्ष पूर्व। इससे पूर्व ब्रह्मा और भी कई हुए हैं। उनके काल में भी शिव की पूजा का प्रचलन था।

– पौराणिक इतिहास में भगवान नील वराह के अवतार का काल लगभग 16 हजार ईस्वीपूर्व का माना गया है। मतलब 18 हजार वर्ष पूर्व। वराह कल्प के प्रारंभ में भी शिव थे।

पुरातात्विक प्रमाण-
– हड़प्पा और मोहनजोदड़ो की खुदाई में ऐसे अवशेष प्राप्त हुए हैं जो शिव पूजा के प्रमाण प्रस्तुत करते हैं। सिंधु घाटी से नंदी और शिवलिंग का पाया जाता इसका प्रमाण है। आईआईटी खड़गपुर और भारतीय पुरातत्व विभाग के वैज्ञानिकों के नए शोधानुसार मुताबिक यह सभ्यता 8000 साल पुरानी थी।

– पुरातात्विक निष्कर्षों के अनुसार प्राचीन शहर मेसोपोटेमिया, असीरिया, मिस्र (इजिप्ट), सुमेरिया, बेबीलोन और रोमन सभ्यता में भी शिवलिंग की पूजा किए जाने के सबूत मिले हैं।

– आयरलैंड के तारा हिल में स्थित एक लंबा अंडाकार रहस्यमय पत्थर रखा हुआ है, जो शिवलिंग की तरह ही है। इसे भाग्यशाली (lia fail stone of destiny) पत्थर कहा जाता है। कहते हैं कि मक्का का संग-ए-असवद भी एक शिवलिंग ही है जो बहुत ही प्राचीन है।

– हाल ही में सद्गुरु जग्गी वासुदेव तुर्की गए हुए थे। वहां उन्होंने एक रूमी के मकबरे के बाहर गार्डन में एक अजीब तरह का गोल पत्थर देखा। बाद में उन्होंने उसकी खोज की तो पता चला कि वह 4700 वर्ष पुराना शिवलिंग है।

– भारत में हजारों वर्ष पुराने सैंकड़ों शिवलिंग हैं जिनकी मंदिरों में पूजा अर्चना हो रही है। 12 ज्योतिर्लिंग के शिवलिंग इसका उदाहरण हैं। इसके अलावा नदी के तटों और शहरों से दूर-दराज के क्षेत्र में हजारों वर्ष पूर्व बने शिव मंदिर आज भी विद्यमान हैं।

– अरब के मुशरिक, यजीदी, साबिईन, सुबी और इब्राहीमी धर्मों में शिव के होने की छाप स्पष्ट रूप से देखी जा सकती है। इस्लाम से पहले मध्य एशिया का मुख्य धर्म पीगन था। मान्यता अनुसार यह धर्म हिंदू धर्म की एक शाखा ही थी जिसमें शिव पूजा प्रमुख थी।

– ईरान को प्राचीन काल में पारस्य देश कहा जाता था। इसके निवासी अत्रि कुल के माने जाते हैं। अत्रि ऋषि भगवान शिव के परम भक्त थे जिनके एक पुत्र का नाम दत्तात्रेय है। अत्रि लोग ही सिन्धु पार करके पारस चले गए थे, जहां उन्होंने यज्ञ का प्रचार किया।

– विद्वानों ने वेदों के रचनाकाल की शुरुआत 4500 ईस्वी पूर्व से मानी है। इस मान से लिखित रूप में आज से 6520 वर्ष पूर्व पुराने हैं वेद। इससे पहले हजारों वर्ष तक वेद वाचिक परंपरा में ही रहे। मतबल पुरानी पीढ़ी नई पीढ़ी को वेद कंठस्थ कराकर वेदों के ज्ञान को जिंदा बनाए रखती थी। वेदों में भगवान शिव का उल्लेख मिलता है।

– अंत में भगवान शिव को आदिदेव, आदिनाथ और आदियोगी कहा जाता है। आदि का अर्थ सबसे प्राचीन प्रारंभिक, प्रथम और आदिम। शिव आदिवासियों के देवता हैं।

– शिव के 7 शिष्य हैं जिन्हें प्रारंभिक सप्तऋषि माना गया है। इन ऋषियों ने ही शिव के ज्ञान को संपूर्ण धरती पर प्रचारित किया जिसके चलते भिन्न-भिन्न धर्म और संस्कृतियों की उत्पत्ति हुई। कहते हैं कि शिव ने इन शिष्यों का लगभग 40 हजार वर्ष पूर्व तैयार किया था।

Share

12,193 thoughts on “कब हुए थे भगवान शिव?

  1. The new Zune browser is surprisingly good, but not as good as the iPod’s. It works well, but isn’t as fast as Safari, and has a clunkier interface. If you occasionally plan on using the web browser that’s not an issue, but if you’re planning to browse the web alot from your PMP then the iPod’s larger screen and better browser may be important.

  2. Thanks for the sensible critique. Me & my neighbor were just preparing to do some research on this. We got a grab a book from our local library but I think I learned more from this post. I am very glad to see such excellent info being shared freely out there.

  3. Its like you read my mind! You appear to know so much about this, like you wrote the book in it or something. I think that you could do with a few pics to drive the message home a bit, but other than that, this is magnificent blog. A great read. I’ll definitely be back.

  4. I was wondering if you ever thought of changing the structure of your site? Its very well written; I love what youve got to say. But maybe you could a little more in the way of content so people could connect with it better. Youve got an awful lot of text for only having 1 or two pictures. Maybe you could space it out better?|

  5. Fantastic site you have here but I was wondering if you knew of any forums that cover the same topics talked about here? I’d really like to be a part of group where I can get advice from other experienced individuals that share the same interest. If you have any recommendations, please let me know. Thanks!

  6. This is very interesting, You are a very skilled blogger. I’ve joined your rss feed and look forward to seeking more of your great post. Also, I have shared your website in my social networks!

  7. This recommendation came after a long-term pediatric clinical trial that showed that children taking a high dose of Revatio had a higher risk of death than children taking low doses, and that the lower doses of Revatio were not effective in improving exercise ability in children.

  8. This web site is really a walk-through for all of the details you desired about this as well as didn?t understand that to ask. Look below, and also you?ll definitely discover it.

  9. to and you’re just too great. I actually like what you have bought here, certainly like what you’re saying and the way during which you are saying it.

  10. to and you’re just too great. I actually like what you have bought here, certainly like what you’re saying and the way during which you are saying it.

  11. Today, while I was at work, my cousin stole my apple ipad and tested to see if it can survive a 30 foot drop, just so she can be a youtube sensation. My iPad is now broken and she has 83 views. I know this is entirely off topic but I had to share it with someone!

  12. I precisely necessary to thank you so considerably yet once again. I do not know the points I would’ve taken care of without these secrets contributed by you regarding this dilemma. It seemed to be a very frightful crisis for me, but encountering a new well-written tactic you processed it forced me to jump with contentment. Now i’m happier for the function and hope you are aware of an wonderful job you happen to be finding into educating individuals through your internet blog. Probably you haven’t come across any of us.

  13. Today, while I was at work, my cousin stole my apple ipad and tested to see if it can survive a 30 foot drop, just so she can be a youtube sensation. My iPad is now broken and she has 83 views. I know this is entirely off topic but I had to share it with someone!

  14. Just want to say your article is as surprising. The clarity in your post is simply great and i can assume you are an expert on this subject. Fine with your permission let me to grab your feed to keep up to date with forthcoming post. Thanks a million and please continue the rewarding work.

  15. Today, while I was at work, my cousin stole my apple ipad and tested to see if it can survive a 30 foot drop, just so she can be a youtube sensation. My iPad is now broken and she has 83 views. I know this is entirely off topic but I had to share it with someone!

  16. tsyepocd,A fascinating discussion is definitely worth comment. I do think that you ought to publish more on this topic, it may not be a taboo dnaajqtlyi,subject but generally folks don’t talk about such subjects. To the next! All the best!!