मास्क पहनने से होगा कोरोना से बचाव:सीएमओ डॉ. नीता कुलश्रेष्ठ

मास्क पहनने से होगा कोरोना से बचाव:सीएमओ डॉ. नीता कुलश्रेष्ठ

फिरोजाबाद। कोविड-19 का संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है। देश के अन्य राज्यों में कोरोना के केस फिर से बढ़ने लगे हैं। ऐसे में जरूरी है कि कोरोना से बचाव के उपायों को सभी लोग व्यक्तिगत तौर पर अपनाएं। सबसे जरूरी है कि घर से बाहर निकलते वक्त मास्क अवश्य पहनें।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि कोरोना का संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है, अन्य राज्यों में कोरोना के केस बढ़ने लगे हैं, इसलिए कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क पहनना बहुत जरूरी है। सीएमओ ने बताया कि मास्क पहनने से कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। अगर किसी कोरोना से संक्रमित व्यक्ति ने मास्क पहना हुआ है तो उस व्यक्ति से संक्रमण का खतरा कम हो जाता है। उन्होंने बताया कि बोलते समय निकलने वाली सांस की बूंदें आठ मिनट से ज्यादा समय तक हवा में रह सकती हैं।

ऐसे में अगर कोरोना संक्रमित व्यक्ति बिना मास्क के बात करता है तो उसकी सांस की बूंदों से कोरोना फैलने की संभावना काफी ज्यादा है। इससे बचने के लिए मास्क लगाना बेहद जरूरी है। जाहिर है कि मास्क पहनने से हम खुद को और दूसरे लोगों को भी कोरोना के संक्रमण से बचा सकते हैं। हम सभी को समझना होगा कि मास्क पहनना कोरोना वायरस के खिलाफ बचाव में काफी कारगर साबित हो सकता है।

सीएमओ ने बताया कि कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए तीन लेयर वाला मास्क या कपड़े के मास्क का उपयोग कर सकते हैं। कपड़े के मास्क उपयोग करने के बाद साबुन और पानी से धोकर और सुखाकर कर सकते हैं।
उन्होंने कहा कि सभी लोग मास्क जरूर पहने। सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें और सोशल डिस्टेसिंग जरूर बनाएं रखे। बिना जरूरत के घर से बिल्कुल नहीं निकले और भीड़ वाली जगह पर नहीं जाएं।

सीएमओ डॉ. नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि कोरोना की रोकथाम के लिए कोविड-19 टीकाकरण भी शुरू हो चुका है। इसके लिए 60 वर्ष से अधिक के बुजुर्ग और 45 से 59 वर्ष तक गंभीर बीमारियों से ग्रसित रोगी टीकाकरण केंद्र पर आकर अपना टीकाकरण कराएं।

Share