हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते, लेकिन चौथी लहर बहुत खतरनाक

हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते, लेकिन चौथी लहर बहुत खतरनाक

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना भयावह स्तर पर पहुंच गया है। बहुत अधिक तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए सीएम केजरीवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सीएम ने कहा कि देशभर में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। दिल्ली में बीते 10 दिनों से कोरोना बहुत तेजी से बढा है। दिल्ली में कोरोना की ये चौथी लहर है। मिड मार्च तक 200 से भी कम केस आ रहे थे। कल के 24 घंटे की रिपोर्ट (जो आज सामने आएगी) के अनुसार दिल्ली में 10 हजार 732 केस आए हैं।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि पिछले तीन दिन के अंदर ही कोरोना केस बहुत तेजी से बढ़े हैं। स्थिति बेहद चिंताजनक है। सरकार स्थिति पर नजर रखे हुए है। हम सबका सहयोग ले रहे हैं। कोरोना से लड़ने के लिए हम तीन स्तर पर काम कर रहे हैं। पहला किस तरह से संक्रमण के प्रसार को रोका जाए। इसमें सभी लोगों को सहयोग देना होगा। कोरोना के सभी प्रोटोकॉल फॉलो करने होंगे। मास्क पहन के रखिए, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

सीएम केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि घर से तभी बाहर निकलें जब बहुत जरूरी हो। हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते हैं। मजबूरी में कुछ प्रतिबंध कल सरकार ने लगाए हैं। जो आपकी सेहत और सुरक्षा के लिए लगाए गए हैं। दूसरी तरफ इलाज की जरूरत के दौरान दिल्ली के लोगों को बेस्ट इलाज मिले इसका इंतजाम कर रहे हैं। नवंबर के महीने से ज्यादा खतरनाक इस वक्त की पीक है।

सीएम केजरीवाल ने बताया कि उन्होंने कल शाम को एलएनजेपी का दौरा किया। उन्होंने कहा कि मैं डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को सलाम करता हूं। हम अस्पताल की व्यवस्थाओं पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। सीएम ने कहा कि अस्पतालों में बेड्स देखने लिए सरकार द्वारा जून में लॉन्च किए गए एप के जरिए देखें। केवल प्राइवेट अस्पतालों की तरफ ही न भागें, दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में बहुत अच्छा इलाज हो रहा है। वहां जाइए। अस्पताल में तभी जाइए जब जरूरत है वरना होम आइसोलेशन में रहिए।

सीएम ने बताया कि तीसरा काम हम वैक्सीनेशन पर हम जोर देने का कर रहे हैं। वैक्सीन आने के बाद भी कोरोना फैल रहा है। जिस तेजी से कोरोना फैल रहा है उससे अधिक तेजी से अगर हम वैक्सीनेशन करें तो कोरोना को हरा सकते हैं। हम घर-घर जाकर वैक्सीन लगाने को तैयार हैं। तीन महीने के अंदर पूरे राज्य को वैक्सीन लगा देंगे। केंद्र सरकार से अपील है कि वैक्सीने वाली जो रिस्ट्रिक्शन है उसे हटा दें। बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन करना जरूरी है।

Share