नलकूपों की सूची देने से कतरा रहा जलकल विभाग

नलकूपों की सूची देने से कतरा रहा जलकल विभाग

सूचना अधिकार के तहत दी ऑफिस से प्राप्त करने की जानकारी,अब बना रहे बहाने

 

फिरोजाबाद। भाजपा की योगी सरकार में जलकल विभाग के अधिकारियों और नलकूप ठेकेदार ने विभाग को अपने घर की सरकार बना दिया है।विभाग,नलकूप ठेकेदार के इशारों पर नाच रहा है।नियम कानूनों को ताक पर रखकर अधिकारी मनमानी करने पर तुले हुए हैं।महीने भर से कार्यालय के अधिकारी ट्यूबवेल की सूची देने में आनाकानी कर रहे हैं।

विगत 18 -6- 2021 को आरटीआई के द्वारा शहर में स्थित क्षेत्र वाइज क्रियाशील ट्यूबवेल की सूची जलकल विभाग फिरोजाबाद से मांगी गई थी।विभाग के द्वारा दिनांक 22-6-2021 को आरटीआई का जवाब देते हुए संबंधित को जलकल विभाग में आकर नलकूपों की सूची लेने की बात कही गई थी,लेकिन आजकल करते हुए एक माह से अधिक बीत जाने के बाद भी संबंधित को नलकूपों की सूची उपलब्ध नहीं कराई गई।

आरटीआई आवेदन कर्ता को नलकूपों की सूची ना देनी पड़े।इसके लिए विभाग के अधिकारी नए नए बहाने बना रहे हैं।करीब 1 माह से जलकल विभाग के महाप्रबंधक जलकल आर.बी.राजपूत और क्लर्क संजय बघेल नलकूपों की सूची कार्यालय में ना होकर नगर निगम के अकाउंट विभाग में होने की बात कह रहे हैं।

आखिर,जलकल विभाग के अधिकारी नलकूपों की सूची साझा करने से इतने डर क्यों रहे हैं,कहीं उन्हें ट्यूबवेल ऑपरेटर से संबंधित भ्रष्टाचार के शहर में उजागर होने का डर तो नहीं।आखिर क्यों हो रही है मनमानी,सवाल उठ रहे हैं।लोगों में चर्चा है कि नीचे से ऊपर तक सेटिंग है,इसलिए ऐसा हो रहा है। अब सेटिंग कौन सी है,यह तो ऊपर वाला ही जाने।वहीं जलकल विभाग के अधिकारियों की मनमानी पर महापौर भी चुप्पी साधे हुए हैं।

इस संबंध में महाप्रबंधक जलकल आर.बी.राजपूत ने फोन पर वर्जन देने से मना कर दिया। उनका कहना है कि फोन पर मैं कुछ नहीं बता सकता, आप ऑफिस आ जाना।सूत्र बताते हैं कि जलकल विभाग में बड़े स्तर पर धांधली और कमीशन बाजी का खेल चल रहा है।नलकूप ठेकेदार के इशारों पर अधिकारी नलकूप की सूची देने से कतरा कर रहे हैं।

 

Share