भटकती बुजुर्ग महिला को पहुंचाया घर,बेटों ने निकाल दिया था

धौलपुर। रुंध का पुरा बाड़ी की एक बुजुर्ग महिला मुलिया कुशवाह जो अपने बेटों की उपेक्षा का शिकार होकर इधर-उधर भटक रही थी,शनिवार को कुछ समाजसेवी लोगों ने उसकी मदद करते हुए उसके घर पहुंचाने का कार्य किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार,बुजुर्ग महिला मुलिया कुशवाह इंदिरा रसोई पर बैठी हुई थी। उनके पति की कुछ दिनों पहले मृत्यु हो चुकी है,अब उन्हें घर से प्रताडि़त करके भगा दिया गया हैं। यह सूचना सोशल मीडिया माध्यम से बाड़ी अपना घर सेवा समिति के अध्यक्ष विष्णु महेरे को मिली तो उनकी टीम वहां पहुंची।

विष्णु महेरे ने बताया कि बाड़ी शहर के महाराज बाग स्थित इंदिरा रसोई पर घूम रही उक्त बुजुर्ग महिला मुलिया पत्नी स्वर्गीय भोगी राम कुशवाह निवासी रूध का पुरा बामनी नदी के पास बाड़ी को उनके समिति के अध्यक्ष विष्णु महेरे और जगन्नाथ कोली ने सकुशल पहुंचा दिया हैं।

उन्होंने बताया कि इनके तीन बच्चे हैं तीन बहू हैं। तीनों में होड़ हैं,कोई भी खाना देने को तैयार नहीं है। अम्मा अपना खाना स्वयं बनाती है। मुलिया की एक शादीशुदा बेटी घर पर मिल गई,अपना घर टीम ने समझाया इन बूढ़े बुजुर्ग की सेवा हमें करनी चाहिए और इनको लावारिस हालत में ना छोडऩे का निवेदन किया। अम्मा अब सकुशल अपने घर हैं।