भूख-प्यास से बिलख रहे मुस्लिम परिवारों को स्वयंसेवकों ने खिलाया खाना

अर्जुन मिश्रा
टूंडला(फिरोजाबाद)। टूंडला -एटा रोड पर श्रीनगर गांव में बरेली जाने के इंतजार में बैठे कुछ मुस्लिम परिवारों के लिए आरएसएस के कार्यकर्ता भगवान के दूत बन के आए,वह लोग भूख प्यास से तड़प रहे थे,खाना-पानी सब कुछ खत्म हो चुका था,आस-पास कोई मदद करने वाला भी मौजूद नहीं था। संघ के स्वयंसेवकों ने इनको खाना और पानी दिया।

भूखे को खाना खिलाना सबसे बड़ा कार्य होता है।जनपद में स्वयंसेवकों ने बीड़ा उठाया है,वह प्रतिदिन लोगों की मदद करेंगे। स्वयंसेवक किसी की मदद धर्म,जाति,देश,पंथ देखकर नहीं करते,उनके लिए इंसान ही भगवान का रूप होता है। जब भी देश पर संकट आया है स्वयंसेवकों ने देश हित में कार्य किया है।

उल्लेखनीय है कि पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉक डाउन लागू है। इस समय देश कोरोना से जूझ रहा है,जिस वजय से जनता के सामने कई दिक्कतें आ खड़ी हुई है।सरकार कोरोना वायरस से देशवासियों को बचाने में लगी हुई है।चीनी वायरस (कोरोना) की वजह से पूरा विश्व परेशान है,लोगों के सामने खाने-पीने,रहने,रोजगार आदि की गंभीर समस्या पैदा हो गई है। इस दौरान ऋषि जिला गो सेवा प्रमुख,संजय परमार अन्य स्वयंसेवक मौजूद थे।