गुवाहाटी-हाफलांग के बीच चलेगी विस्टाडोम ट्रेन,जानें खासियत

 गुवाहाटी-हाफलांग के बीच चलेगी विस्टाडोम ट्रेन,जानें खासियत

असम।पर्यटन क्षेत्र को गति देने की दिशा में पूर्वोत्तर सीमा रेल (पूसीरे) पहली बार 28 अगस्त से विस्टाडोम 05888 टूरिस्ट विशेष ट्रेन चलाने जा रहा है। इसका उद्देश्य असम में पर्यटन की गति को बढ़ाना है। अब रेल यात्री पूर्वोत्तर में चारों ओर बिखरे प्राकृतिक सौंदर्य का लुत्फ उठा सकते हैं।

असम सरकार के साथ मिलकर शुरू की गई परियोजना

गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को मीडिया को संबोधित करते हुए पूर्वोत्तर सीमा रेल के महाप्रबंधक अंशुल गुप्ता ने विस्टाडोम की विशेषताओं के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि यह परियोजना असम सरकार के साथ मिलकर शुरू की गई है। इससे राज्य के होटल इंडस्ट्री और पर्यटन से जुड़े अन्य क्षेत्रों को काफी लाभ मिलेगा। इसके जरिए पर्यटन को बढ़ावा देने का एक सपना था, जो आज पूरा हो रहा है। उन्होंने बताया कि इसमें सफर करने के दौरान पूरे प्राकृतिक सौंदर्य को देखा जा सकता है। इसका ट्रायल दक्षिण भारत में पहले ही किया गया, जो पूरी तरह से सफल रहा।

पर्यटन को समर्पित गुवाहाटी-हाफलांग के बीच चलेगी विस्टाडोम ट्रेन

उन्होंने बताया कि एक अन्य विस्टाडोम ट्रेन सिलिगुड़ी से अलीपुरद्वार के बीच चलायी जाएगी। सुकना से रांगडांग के बीच भी नैरोगेज सेक्शन पर विस्टाडोम ट्रेन चलायी जाएगी। पूर्वोत्तर सीमा रेल के महाप्रबंधक ने कहा कि पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों सरकारों से भी इस दिशा में बातचीत चल रही है। उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टि से अरुणाचल प्रदेश के तवांग और मणिपुर की राजधानी इंफाल में भी नैरोगेज पर ट्वॉय ट्रेन चलाने की परियोजना है। गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर विस्टाडोम ट्रेन के कोच का महाप्रबंधक ने अवलोकन करते हुए इसकी खासियत के बारे में बताया।

28 अगस्त से शुरुआत में सप्ताह में दो शनिवार और बुधवार के दिन चलेगी यह ट्रेन

यह ट्रेन आगामी 28 अगस्त से शुरुआत में सप्ताह में दो शनिवार और बुधवार के दिन चलेगी। विस्टाडोम कोच में कुल 44 सीट है। विशेष विस्टाडोम ट्रेन सेवा गुवाहाटी-न्यू हाफलोंग सेक्शन के बीच चलेगी और मंडेरडिसा और माईबांग स्टेशनों पर रुकेगी। सेवा का लाभ उठाने वाले पर्यटकों की मांग पर इसे सप्ताह के सातों दिन चलाया जाएगा। ट्रेन में विस्टाडोम कोच के अलावा वातानुकूलित चेयर कार भी होगा। यह अग्रिम बुकिंग के प्रावधान के साथ एक विशेष रूप से आरक्षित सेवा होगी। ट्रेन गुवाहाटी से सुबह 06.35 बजे प्रस्थान करेगी और 11.55 बजे न्यू हाफलांग पहुंचेगी और उत्तर कछार हिल क्षेत्र से होते हुए 269 किमी की दूरी तय करेगी। वापसी यात्रा न्यू हाफलांग से दोपहर बाद 05.00 बजे रवाना होगी तथा रात 10.45 बजे गुवाहाटी स्टेशन पर पहुंचेगी।

पर्यटन को समर्पित गुवाहाटी-हाफलांग के बीच चलेगी विस्टाडोम ट्रेन

ट्रेन की खासियत

इस ट्रेन में कई अनूठी विशेषताएं होंगी जो पर्यटकों को काफी आकर्षित करेगी। विस्टाडोम कोच अत्याधुनिक कांच की खिड़कियों और सभी कांच की छत से सुसज्जित है, जो पर्यटकों को खुले आसमान, पहाड़ों, सुरंगों, पुलों, पहाड़ियों और हरे भरे जंगलों का 260 डिग्री दृश्य प्रदान करेगा। साइट देखने के उद्देश्य से इसमें अवलोकन लाउंज भी होंगे। कोच की रोटेशनल सीटें यात्रियों को अतिरिक्त आराम प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है।

विस्टाडोम की अन्य खास विशेषताओं में वाई-फाई आधारित यात्री सूचना प्रणाली। डिजिटल डिस्प्ले स्क्रीन के साथ यात्री मनोरंजन प्रणाली। स्वचालित स्लाइडिंग दरवाजे। बड़े प्रवेश द्वार। सीसी टीवी, सर्विलांस,फायर अलार्म सिस्टम,एलईडी डेस्टिनेशन बोर्ड। प्रेशराइज फ्लशिंग सिस्टम के साथ एफआरपी मॉड्यूलर शौचालय उपलब्ध है। इस ट्रेन की आधुनिक विशेषताएं पर्यटकों को अतिरिक्त आराम और सौंदर्य का अनुभव देने में सफल होगी।

पर्यटकों के लिए क्यों खास है गुवाहाटी-न्यू हाफलांग रूट ?

गुवाहाटी-न्यू हाफलांग रूट पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण केंद्र होगा। जिसमें रेल मार्ग पूरी तरह से पहाड़ियों और घने जंगलों से घिरा हुआ है, जिसमें जातीय जनजातियां और समृद्ध जैव विविधता रहती हैं। रास्ते में और गंतव्य पर पर्यटक आकर्षण के कई स्थान हैं, जैसे- जतिंगा घाटी जो प्रवासी पक्षियों का स्थान है। माइबांग जो डिमासा साम्राज्य की प्राचीन राजधानी थी। हाफलांग के पास पर्यटन स्थलों में दयांग रिवर व्यू, माहूर रेलवे स्टेशन,बेंदाओ बगलाई वाटर फॉल,जातिंगा हिल व्यू, जतिंगा बर्ड्स सुसाइड प्वॉइंट,माइबांग में वन स्टोन हाउस,बंदरखाल रिवर व्यू, हाफलांग लेक,हाफलांग चर्च, हरंगाजाओ व्यू,हाफलांग टाउन व्यू प्वॉइंट आदि प्रमुख हैं। उपरोक्त स्थल पर्यटकों के यात्रा कार्यक्रम का हिस्सा हो सकते हैं।

किराया लगभग 1,130 रुपए (एक तरफ) होगा

विस्टाडोम एक्स गुवाहाटी से न्यू हाफलांग तक की यात्रा का किराया लगभग 1,130 रुपये (एक तरफ) होगा। एसी चेयर कार का किराया केवल 470 रुपये होगा। टिकट की बुकिंग रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध पीआरएस टिकट विंडो के माध्यम से अग्रिम बुकिंग की जा सकती है। ऑनलाइन बुकिंग आईआरसीटीसी के वेब पोर्टल पर भी उपलब्ध होगी। इस मौके पर असम सरकार के वरिष्ठ अधिकारी,पूसीरे के कई वरिष्ठ अधिकारी आदि मौजूद थे।

 

Share