अमेरिका: कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेने वालों को मास्क की जरूरत नहीं

अमेरिका: कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेने वालों को मास्क की जरूरत नहीं

वॉशिंगटन। अमेरिका में कोरोनावायरस महामारी से पहले वाली जिंदगी की ओर लौटने का बड़ा संकेत देते हुए रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने कहा है कि जिन लोगों ने टीके की दोनों खुराक ले ली है, उन्हें मास्क पहनने की जरूरत नहीं है। सीडीसी ने कहा कि घरों से बाहर जाने और अंदर रहने दोनों के लिए यह सिफारिश की जाती है।

सीडीसी द्वारा गुरुवार को यह घोषणा करने के बाद राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में पत्रकारों के सामने बिना मास्क पहने पहुंचे। बाइडन ने कहा कि मुझे लगता है कि यह बड़ी कामयाबी है। बहुत बड़ा दिन है। अधिक से अधिक अमेरिकियों को जल्द से जल्द टीके लगाने में हमारी असाधारण सफलता से यह संभव हुआ है। सीडीसी के नए दिशा-निर्देशों का जिक्र करते हुए बाइडन ने कहा कि टीके की पूरी खुराक ले चुके लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने का खतरा बहुत ही कम है।

राष्ट्रपति ने कहा कि अगर आपने टीके की पूरी खुराक ले ली है तो आपको मास्क पहनने की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर आपने टीका नहीं लगवाया या आपको 2 टीके लगने हैं और आपने केवल पहला टीका लगाया है लेकिन दूसरा नहीं या दूसरा टीका लगवाने के बाद 2 हफ्ते पूरे होने का इंतजार नहीं किया तो आपको अब भी मास्क पहनने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि 114 दिनों में 25 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं।

बाइडन ने कहा कि हम नतीजे देख रहे हैं। 50 राज्यों में से 49 में मामले कम हो गए हैं। ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने बताया कि 1 साल पहले अप्रैल 2020 के बाद से अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या सबसे कम है। मौत के मामलों में 80 प्रतिशत तक की कमी आई है और ये भी अप्रैल 2020 के बाद से सबसे कम स्तर पर है लेकिन दुख की बात है कि यह वायरस दूसरे देशों में बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि 4 महीनों से भी कम समय में हमने अमेरिका के करीब 60 प्रतिशत वयस्कों को कम से कम पहला टीका लगा दिया है। सीडीसी ने अपने नए दिशा-निर्देशों में कहा कि कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराक लेने वाले लोग बिना मास्क पहने या सामाजिक दूरी बनाए बिना अपनी गतिविधियां बहाल कर सकते हैं।

उसने कहा कि अमेरिका के भीतर ही यात्रा करने वाले लोगों को यात्रा से पहले या उसके बाद जांच कराने या क्वारंटाइन करने की आवश्यकता नहीं है। सीडीसी ने कहा कि टीके कोविड-19 बीमारी को रोकने में प्रभावी हैं खासतौर से गंभीर रूप से बीमार पड़ने या मौतों के मामले में। टीकों ने लोगों के जरिए इस संक्रामक रोग के फैलाने का खतरा कम कर दिया है।

अमेरिका ने हाल ही में फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन के कोविड-19 रोधी टीकों को मंजूरी दी है। ये दिशा-निर्देश इन्हीं टीकों पर लागू होते हैं। सीडीसी ने कहा कि साथ ही ये दिशा-निर्देश विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा हाल ही में आपात इस्तेमाल के लिए मंजूरी दिए गए टीकों पर भी लागू हो सकते हैं। इनमें एस्ट्राजेनेका/ऑक्सफॉर्ड का टीका शामिल है।

Share