टॉपर बना दिहाड़ी मजदूर,जानिए पूरा मामला

उत्तराखंड।  रुद्रपुर में दिहाड़ी मजदूर का काम करने वाले अमन कुमार गुरुवार को एक स्थानीय रिपेयर वर्कशॉप में काम रहे थे, तभी उनके स्कूल के प्रिंसिपल का उनके पास फोन आया। प्रिंसिपल ने उन्हें जो बात बताई, उसे सुनकर अमन खुशी से झूम उठे। प्रिंसिपल ने अमन को बताया कि उन्होंने उत्तराखंड बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन की 10वीं की परीक्षा में 95 प्रतिशत अंक हासिल किया है।

इतना ही नहीं, अमन कुमार पूरे उत्तराखंड सबसे ज्यादा नंबर पाने वाले लोगों में 16वें स्थान पर रहे। कुमार रिपेयर शॉप पर मोटर साइकिल के तारों पर टेप लपेटने का काम करते हैं।

कोरोना महामारी के आने के बाद दिहाड़ी मजदूर के रूप में काम करना उनकी मजबूरी हो गई। रिपेयर शॉप में काम करते हुए 6 हजार रुपये प्रति महीने कमाने वाले कुमार ऊधमसिंह नगर में सबसे ज्यादा नंबर लाने वाले स्टूडेंट हैं।

कुमार ने बताया कि लॉकडाउन ने उनके परिवार को गहरे आर्थिक संकट में धकेल दिया था। उनके पिता की आय इतनी ज्यादा नहीं थी कि वह उनकी पढ़ाई को सपोर्ट कर पाते। बताया गया कि कुमार रोज सुबह 5 बजे उठकर पढ़ाई शुरू कर देते थे।

उसके बाद साइकिल से स्कूल जाते थे। स्कूल से आने के बाद वह काम पर जाते। उन्होंने बताया कि स्कूल और काम से लौटने के बाद और सोने से पहले वह एक घंटा पढ़ाई जरूर करते थे। एजेंसी