फिर रद्द हो सकते हैं टोक्यो ओलंपिक !

फिर रद्द हो सकते हैं टोक्यो ओलंपिक !

टोक्यो: टोक्यो ओलंपिक 2020 को रद्द करने को लेकर तीन लाख 51 हजार लोगों के हस्ताक्षर वाली ऑनलाइन याचिका टोक्यो की गवर्नर युरिको कोइके को सौंप दी गई। याचिका को ओलंपिक और पैरालंपिक समितियों के प्रमुखों को भी भेजा गया है।

टोक्यो ओलंपिक खेलों को रद्द करने की मुहिम से जुड़े लोगों ने ओलंपिक समिति के अधिकारियों से अपील की है कि वे कोरोना महामारी के दौर में खेलों के आयोजन के बजाय लोगों की जान बचाने को प्राथमिकता दें। गवर्नर युरिको कोइके ने ओलंपिक खेलों के खिलाफ चल रही मुहिम के बारे में कहा कि वह सुरक्षित ओलंपिक कराने की दिशा में काम करेंगी। कोरोना एक वैश्विक महामारी है, जिसमें सुरक्षित टोक्यो 2020 खेलों का आयोजन करना महत्वपूर्ण है। ”

जापान के इकॉनोमी मंत्री यासुतोशी निशिमुरा ने कोरोना मामलों में वृद्धि के बावजूद खेलों के आयोजन को लेकर कहा कि आयोजक खेलों के लिए अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के समर्थन का इंतजार कर रहे हैं। निशिमुरा ने संसद को बताया, “ मुझे पता है कि कई लोग चिंतित हैं कि इससे कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ जाएगा। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के निर्णय के आधार पर आयोजक टोक्यो ओलंपिक 2020 के आयोजन के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

दूसरी ओर टोक्यो 2020 के संचालन ब्यूरो के उप कार्यकारी निदेशक यासुओ मोरी ने कहा है कि कोरोना उपायों के संदर्भ में इस तरह का व्यवहार ठीक नहीं है।इस बीच गुरुवार को कोरोना संक्रमण के 712 नए मामले सामने आने के बाद शुक्रवार को होकाईडो प्रांत समेत तीन प्रांतों में 31 मई तक इमरजेंसी बढ़ा दी गई है। चिंता का विषय यह है कि होकाईडो में ओलंपिक मैराथन होनी है।

उल्लेखनीय है कि इस महीने की शुरुआत में एक वकील और टोक्यो के गवर्नर पद के पूर्व उम्मीदवार केनजी उत्सुनोमिया ने ‘ कैंसल द टोक्यो ओलंपिक ’ नाम से ऑनलाइन याचिका पेश की थी, जिसे जापान की जनता की ओर से भारी समर्थन मिला और जापान के चेंज डॉट ओआरजी प्लेटफॉर्म पर इसके समर्थन में रिकॉर्ड लोगों ने हस्ताक्षर किए। जितने पिछली किसी भी याचिका में नहीं किए गए। ओलंपिक खेलों को रद्द करने की मुहिम में डॉक्टर्स भी जुड़े हैं,जबकि कुछ हाई-प्रोफाइल जापानी एथलीट्स ने भी चिंता व्यक्त की है,जिनमें मास्टर्स गोल्फ चैंपियन हिदेकी मत्सुयामा और शीर्ष महिला टेनिस खिलाड़ी नाओमी ओसाका शामिल हैं।

लुसाने:टेनिस लीजेंड और 20 ग्रैंड सलेम खिताबों के बादशाह स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने ओलम्पिक आयोजकों से आग्रह किया है कि वे टोक्यो ओलम्पिक को लेकर बन रहे अनिश्चतता के माहौल का अंत करें।फेडरर ने कहा कि वह इन खेलों में भाग लेने को लेकर अभी भी दो दृष्टिकोण में हैं। टोक्यो ओलम्पिक पिछले साल होने थे लेकिन कोरोना के कारण इन्हे स्थगित किया गया था और अब इनका आयोजन 23 जुलाई से आठ अगस्त तक करना निर्धारित किया गया है। लेकिन कोरोना मामलों से जूझ रहे जापान ने अपनी राजधानी टोक्यो और अन्य तीन क्षेत्रों में आपात स्थिति को मई के अंत तक बढ़ा दिया है।

2008 के बीजिंग ओलम्पिक में दोहरे स्वर्ण और चार साल बाद लंदन ओलम्पिक में एकल वर्ग में रजत पदक जीतने वाले फेडरर ने शुक्रवार को स्विस टीवी स्टेशन लेमन ब्ल्यू से कहा, ‘ईमानदारी से कहूं मैं नहीं जानता कि क्या सोचा जाए। मैं दो विचारों से गुजर रहा हूं। मैं ओलम्पिक में खेलना चाहता हूं ,मैं स्विट्जरलैंड के लिए पदक जीतना चाहता हूं। इससे मुझे गर्व होगा लेकिन यदि यह हालात के कारण नहीं होता है तो इसे समझना वाला मैं पहला व्यक्ति होऊंगा। मेरा मानना है कि एथलीट को फैसला चाहिए कि क्या यह होगा या फिर यह नहीं होगा। मौजूदा समय में हमें यही बताया जा रहा है कि ओलम्पिक अपने समय पर होंगे।’

Share