जो भारत माता की जय न बोले उसकी नागरिकता खत्म हो-जयभान सिंह

जो भारत माता की जय न बोले उसकी नागरिकता खत्म हो-जयभान सिंह

भोपाल।बीजेपी नेता और बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष जयभान सिंह पवैया ने बड़ा बयान दिया है।शनिवार को बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में उन्होंने कहा कि कानून में कोई ऐसी धारा जोड़ी जानी चाहिए,जिसमें अगर कोई भारत माता की जय या वंदे मातरम नहीं बोलता है तो उसकी नागरिकता खत्म कर दी जाए।शत्रु राष्ट्र के नारे लगाने वालों की भी नागरिकता खत्म होनी चाहिए।पवैया के मुताबिक ऐसा कानूनी प्रावधान होना चाहिए कि जो लोग ऐसा न करें उनका संपत्ति का अधिकार भी छीन लेना चाहिए.भारत कोई धर्मशाला नहीं है।पवैया ने ये बातें मीडिया से चर्चा के दौरान कहीं।

दरअसल,जयभान सिंह पवैया का यह बयान उज्जैन की उस घटना के बाद सामने आया है,जिसमें एक वीडियो वायरल हुआ और कुछ लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते दिखाई दिए।जैसे ही यह वीडियो वायरल हुआ इस बात को लेकर सवाल खड़े होने लगे कि क्या भारत में रहकर किसी को पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने की अनुमति दी जा सकती है।उज्जैन की इस घटना को लेकर सियासत भी जमकर हुई थी।पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट करते हुए इस पूरी घटना की सच्चाई पर ही सवाल उठा दिए थे।

गृह मंत्री ने किया था दिग्विजय सिंह के ट्वीट का खंडन
राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने लिखा था- जिस वीडियो में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगते हुए सुनाई दे रहे हैं उसमें दरअसल पाकिस्तान जिंदाबाद नहीं बल्कि काजी साहब जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे थे।दिग्विजय सिंह के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि वीडियो सही है और उसमें पाकिस्तान जिंदाबाद के ही नारे लगाए जा रहे थे। इस पर कार्रवाई भी की गई थी।

19 अगस्त को उज्जैन में कथित तौर पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने पर पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया था। पुलिस इस मामल में 10 लोगों से पूछताछ कर रही थी।जानकारी के मुताबिक,घटना 19 अगस्त की रात जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में हुई।यहां एक कार्यक्रम को लेकर बड़ी संख्या में लोग गीता कॉलोनी में इकट्ठा हुए और कथित तौर पर पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे लगाए।

उज्जैन जिले के एसपी सत्येंद्र शुक्ल ने बताया था कि यह घटना गुरुवार रात 10 बजे की है,जिसमें भारत विरोधी नारे लगाए गए।गुरुवार को ही केस दर्ज कर लिया गया था। कुछ लोगों को चिन्हित किया गया है।4 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। हमारे पास जो वीडियो और एविडेंस (सबूत) हैं,उनका एनालिसिस चल रहा है। जो भी लोग इस मामले में शामिल पाए जाएंगे,उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रथम दृष्टया 10 लोगों को हमने चिन्हित किया था। एसपी शुक्ल ने स्‍पष्‍ट किया कि तालिबान के पक्ष में नारे नहीं लगे। उन्‍होंने पाकिस्तान को लेकर नारे लगाने की बात कही है। एसपी सत्येंद्र शुक्ल ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

 

 

Share