ये है Passport बनवाने की अधिकृत वेबसाइट,फर्जी Websites से बचे 

ये है Passport बनवाने की अधिकृत वेबसाइट,फर्जी Websites से बचे 

नई दिल्ली अगर आप ऑनलाइन पासपोर्ट के लिए आवेदन कर रहे हैं तो जरा संभल जाए।कहीं ऐसा न हो कि व्यक्ति से पैसे भी ले लिए जाए और फर्जी पासपोर्ट थमा दिया जाए।जानकारी के अनुसार इंटरनेट पर पासपोर्ट विभाग के नाम से करीब आधा दर्जन फर्जी वेबसाइट चल रही हैं,जिन पर विजिट कर पासपोर्ट के लिए अप्लाई करना व्यक्ति को भारी पड़ सकता है।

इंटरनेट पर कई वेबसाइट ऐसी है जो आपके निजी डाटा को हैक कर सकते हैं।इंटरनेट पर पासपोर्ट विभाग के नाम पर आधा दर्जन फर्जी वेबसाइट चल रही है।जो लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रही हैं।इन वेबसाइट पर आवेदन करना आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकता है।विदेश मंत्रालय के पासपोर्ट सेवा डिवीजन ने इस वेबसाइट को लेकर चेतावनी जारी की है।

वेबसाइट के नाम जारी करते हुए पासपोर्ट रीजनल अधिकारी नीतू भागोतिया ने लोगों को सतर्क किया है।इन वेबसाइट पर अपना निजी डाटा और बैंक खाता शेयर न करें। पासपोर्ट बनवाने वालों को सावधान करने के लिए इन फर्जी वेबसाइट के नाम और लिंक भी जारी किए गए हैं।

पासपोर्ट की अधिकृत वेबसाइट
www.passportindia.gov.in

फर्जी वेबसाइट लिस्ट-
1. www.online-passportindia.com
2. www.indiapassport.org
3. www.passport-seva.in
4. www.indiapassport.org
5. www.passport-india.in
6. www.applypassport.org
7. www.passportindiaportal.in

पासपोर्ट विभाग के अधिकारियों की माने तो वेबसाइट पर पासपोर्ट बनाने के नाम पर निर्धारित से ज्यादा फीस भी वसूल जा रहा हैं।जबकि पासपोर्ट डिवीजन की अधिकृत वेबसाइट में किसी तरह का भी अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाता है। इन वेबसाइट पर होने वाले आवेदन पर पासपोर्ट सेवा केंद्रों में दस्तावेजों के सत्यापन के लिए समय भी दिया जा रहा है।

पासपोर्ट अधिकारी नीतू भागोतिया ने कहा कि अपने कंप्यूटर या एनड्राइड मोबाइल से इन बेवसाइट के लिंक पर क्लिक ना करें। वरना आपका निजी डाटा और बैंक खाते हैक हो सकते हैं।बैंक खाते से फीस का ऑनलाइन भुगतान आपको भारी पड़ सकता है।अधिकृत वेबसाइट से सामान्य पासपोर्ट के लिए ऑनलाइन फीस 1500 रुपए ली जाती है।जबकि तत्काल पासपोर्ट के लिए ऑनलाइन फीस 3500 रुपए लगती है। 0 से 15 साल तक के लिए 1000 रुपए और 15 से 18 साल के बीच 1500 रुपए जमा कर 10 साल का पासपोर्ट बनाया जाता है।

पासपोर्ट विभाग के नाम से बनाई गई फर्जी वेबसाइटों पर लोगों के नाम,आधार कार्ड का नम्बर,डेट ऑफ बर्थ बर्थ,बर्थ पैलेस,स्टेट, डिस्ट्रीक,पैन कार्ड नम्बर,वोटर आईडी की जानकारी,मोबाइल नम्बर,पिन कोर्ड, ई-मेल आईडी आदि जानकारियां मांगी जा रही है।विभाग के नाम से इंटरनेट पर संचालित इन फर्जी वेबसाइटों पर विश्वास कर लोग अगर अपनी निजी जानकारियां देंगे तो उनकी यह सारी जानकारियां गलत लोगों तक जा सकती है. जिसका वे दुरुपयोग भी कर सकते हैं।

Share