छात्रा ने एक दिन की थानाध्यक्ष बनाकर कस्बे की सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा

आगरा। थाना पुलिस ने अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस के अवसर पर एक छात्रा को एक दिन का थानाध्यक्ष बनाकर अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस को मनाया। पुलिस ने महिला मिशन शक्ति अभियान को बढ़ावा देते हुए छात्रा को थाना प्रभारी बनाया और एक दिन के लिए थाना प्रभारी बनी छात्रा ने थाने के कार्यालयों का निरीक्षण किया तथा कस्बे में बनी बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

प्रदेश सरकार द्वारा इस समय महिला मिशन शक्ति अभियान के प्रति जागरूक अभियान चलाया जा रहा है। पुलिस द्वारा स्कूलों और गांव में चौपाल लगाकर महिलाओं को सुरक्षा व्यवस्था के प्रति जागरूक किया जा रहा है। महिला सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए शमसाबाद पुलिस ने कस्बा निवासी छात्रा काव्या चक को एक दिन के लिए थाना अध्यक्ष बनाया। एक दिन के लिए थाना प्रभारी बनी छात्रा काव्या चक ने थानाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठकर जनसुनवाई की तो वहीं कस्बे की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए पुलिस की जीप में बैठकर कस्बे का भ्रमण किया।

एक दिन के थानाध्यक्ष के कार्यकाल में छात्रा ने कस्बा स्थित गांधी चौराहे पर बिना मास्क के फर्राटे भर रहे दुपहिया वाहन चालकों को रुकवा कर मास्क लगाने की हिदायत दी तथा बैंक में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए पहुंच गई। बैंक परिसर में बिना मास्क के घूम रहे बैंक उपभोक्ताओं को कोविड-19 की गाइडलाइंस के नियम को समझाया तथा बैंक कर्मियों को हिदायत दी कि बिना मास्क के लोगों का बैंक परिसर में नहीं आने दिया जाए।

इसी दौरान श्री हेत सिंह इंटर कॉलेज की छात्राओं को पुलिस की दिनचर्या तथा कार्यों के बारे में जानकारी दी तथा महिला सुरक्षा हेल्पलेस के माध्यम से महिला सुरक्षा और आत्मरक्षा के गुण भी बताएं। एक दिन के लिए थानाध्यक्ष बनी छात्रा ने पुलिस को धन्यवाद दिया और कहां की पुलिस को अपनी नौकरी में बड़े संघर्ष करने पड़ते हैं। पुलिसकर्मी किसी भी त्योहार को अपने परिवार के साथ नहीं बना पाता है। प्रदेश की सभी सुरक्षा व्यवस्था पुलिस के हाथ में होती है। जिसका पुलिस कर्मियों द्वारा पालन भी किया जाता है।