जनपद के अंदर स्थानांतरण की नीति के संबंध में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने दिए सुझाव

मथुरा। शिक्षकों के बहु प्रतीक्षित जनपद के अंदर स्थानांतरण एवं समायोजन की नीति तैयार करने के संबंध में निदेशक, बेसिक शिक्षा और सचिव बेसिक शिक्षा,उ०प्र० द्वारा बैठक शिक्षक संगठनों के साथ ऑनलाइन बैठक आयोजित कर सुझाव मांगे गए। बैठक में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के प्रतिनिधि मण्डल द्वारा दिये गये सुझावों द्वारा निदेशक और सचिव बेसिक शिक्षा ने सहमति जताई है।

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ मथुरा जिलाध्यक्ष मुकेश शर्मा ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया है कि बैठक में प्रदेश अध्यक्ष अजीत सिंह ने समायोजन के सम्बंध में सुझाव देते हुए कहा कि लास्ट इन फर्स्ट आउट का नियम लागू किया जाए,उच्च प्राथमिक के प्रत्येक विद्यालय में विज्ञान एवं गणित के शिक्षक की व्यवस्था की जाय संविलियन विद्यालय में प्राथमिक के प्रधानाध्यापक से विकल्प लेकर अन्य विद्यालयों में हेड के पद पर पदस्थापित किया जाए।

महामंत्री भगवती सिंह और संगठन मंत्री शिव शंकर ने कहा कि जनपद के अंदर के ट्रांसफर के लिए सेवा काल की बाध्यता न रखी जाए,बन्द/एकल की व्यवस्था में एकल हटा दिया जाए,ट्रांसफर लेने हेतु कारण में परिवारीजनों की बीमारी को विकल्प में रखा जाए,पति-पत्नी को यथासंभव एक ही स्कूल या ब्लॉक में तैनात किया जाए,ब्लॉक स्थानान्तरण में वेटज की व्यवस्था की जाए।जिलाध्यक्ष मुकेश शर्मा ने बताया कि निदेशक ने संगठन के सुझावों से सहमति जताते हुए आश्वासन दिया है कि स्थानांतरण नीति अतिशीघ्र फाइनल कर शासनादेश जारी कर दिया जाएगा।

Share