14 साल के फैसल को आतंकी कमांडर ने नहीं करने दिया सरेंडर,अम्मी-अब्बू गुहार लगाते रहे,मरे गए 3 दिन में 11 आतंकवादी

14 साल के फैसल को आतंकी कमांडर ने नहीं करने दिया सरेंडर,अम्मी-अब्बू गुहार लगाते रहे,मरे गए 3 दिन में 11 आतंकवादी

कश्मीर।  जम्मू-कश्मीर के शोपियाँ में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया है। कश्मीर में पिछले तीन दिनों 11 आतंकी ढेर किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि शोपियाँ का ऑपरेशन पूरा हो गया है। वहीं अनंतनाग के बिजबेहरा में मुठभेड़ चल रही है। माना जा रहा है कि वहाँ दो से तीन आतंकी छिपे हो सकते हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में शोपियाँ जिले के हादीपुरा में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना पाकर सुरक्षाबलों ने घेराबंदी और तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी कार्रवाई की। मार गिराए गए आतंकी अलबदर से जुड़े थे।

मारे गए आतंकियों में एक 14 साल का नाबालिग फैसल गुलजार गनई भी था। उसका आत्मसमर्पण कराने की कोशिश की गई, लेकिन सफलता नहीं मिली। अंततः सुरक्षा बलों के हाथों वह मारा गया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक सुरक्षा बलों ने नाबालिग के माता-पिता से सरेंडर करने की अपील भी कराई। पहले तो फैसल आत्मसमर्पण करने के लिए तैयार हुआ, लेकिन उसके साथ मौजूद अलबदर कमांडर आसिफ शेख ने उसे ऐसा करने से रोक दिया।

मारे गए तीनों आतंकियों की पहचान अलबदर का जिला कमांडर आसिफ अहमद गनी, 14 वर्षीय आतंकी फैसल गुलजार गनी और उबैद अहमद के रूप में हुई है। हालाँकि अधिकारिक तौर पर पुलिस ने मारे गए आतंकियों की पहचान उजागर नहीं की है।

इसके पहले सुरक्षाबलों ने शुक्रवार (अप्रैल 9, 2021) को शोपियाँ जिले की एक मस्जिद में छिपे 5 आतंकियों को मार गिराया था। वहीं गुरुवार (अप्रैल 8, 2021) को शोपियाँ के ही जानमोहल्ला इलाके में एनकाउंटर के दौरान 3 आतंकी आतंकी मारे गए थे।

बता दें कि मस्जिद में छिपे आतंकियों से पहले सरेंडर करने के लिए कहा गया था। उन्हें समझाने के लिए उस मस्जिद के इमाम और एक आतंकी के भाई को मस्जिद के अंदर भेजा गया था, लेकिन आतंकी नहीं माने। आतंकियों को आत्मसमर्पण के लिए 17 मौके दिए गए, मगर इसके बाद भी जब उन्होंने आत्मसमर्पण नहीं किया तो ऐसे में कई घंटों की मशक्कत के बाद सुरक्षाबलों ने सभी 5 आतंकियों को ढेर कर दिया। एजेंसी

Share