बैंक मैनेजर का अपहरण कर 7 लाख रुपए की फिरौती लेने की वारदात का 24 घंटे में फर्दाफाश

बैंक मैनेजर का अपहरण कर 7 लाख रुपए की फिरौती लेने की वारदात का 24 घंटे में फर्दाफाश

चार आरोपी गिरफ्तार,पकड़ा गया आरोपी जशनदीप पंजाब पुलिस की कस्टडी से था फरार

सतीश बंसल । सिरसा जिला की सीआईए कालांवाली व सीआईए सिरसा पुलिस ने महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए बीती 5 अप्रैल को गांव लक्कड़ावाली में स्थित पंजाब नैशनल बैंक की शाखा के मैनेजर कमल कटारिया का अपहरण व सात लाख रुपए की फिरौती लेने की वारदात को सुलझाने में बड़ी सफलता हासिल की है । इस संबंध में जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों की पहचान जशनदीप उर्फ जश्न पुत्र धर्मेद्र सिंह निवासी जगमालवाली,साहिल पुत्र संजय कुमार,हर्ष कुमार पुत्र सुखा सिंह निवासियान मंडी डबवाली व बुटा सिंह पुत्र सुरेंद्र सिंह निवासी शेरगढ़ जिला सिरसा के रुप में हुई है । उन्होने बताया कि बीती 5 अप्रैल को कमल कटारिया निवासी संगरिया हाल हुड्डा कालोनी सिरसा मैनेजर पंजाब नैशनल बैंक लक्कड़ावाली ने बड़ागुढ़ा थाना पुलिस को शिकायत दर्ज करवाई थी ।

पुलिस को दर्ज करवाई शिकायत में बैंक मैनेजर कटारिया ने बताया था कि सुबह करीब पौने दस बजे जब वह अपने साथी बैंक कर्मचारी हरमित सिंह के साथ डयूटी के लिए लक्कडावाली में आ रहा था तो गांव छतरियां के पास होंडा सिटी कार में सवार 6 लोगों ने अपनी कार उनकी वरना कार के अड़ाकर उसका व उसके साथी कर्मचारी का हथियारों के बल पर अपहरण कर लिया और 14 लाख रुपए की फिरौती मांगी अपहरणकर्ताओं ने गदराना फाटक के नजदीक सात लाख रुपए की फिरौती लेकर दोनों को मौजगढ गांव के पास कार सहित छोड़कर मौका से फरार हो गए थे ।

इस संबंध में बड़ागुढा थाने में अभियोग दर्ज किया गया था । पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामलें की गंभीरता को देखते हुए कालांवाली के ए एसपी नितिश अग्रवाल के नेतृत्व में सीआईए कालांवाली, सीआईए सिरसा व साइबर सैल की टीमों का गठन किया । सीआईए सिरसा प्रभारी इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार व कालांवाली सीआईए प्रभारी सब इंस्पेक्टर राजपाल की पुलिस टीमों ने महत्वपूर्ण सुराग जुटाए । सीआईए कालांवाली प्रभारी उप निरीक्षक राजपाल की पुलिस टीम ने दबिश देकर घटना के तीन आरोपियों को पंजाब क्षेत्र से जबकि एक आरोपी को डबवाली क्षेत्र से काबू कर लिया ।

इस घटना के दो अन्य आरोपियों की पहचान कर ली गई है,जिन्हे शीघ्र दबिश देकर गिरफ्तार किया जाएगा । उन्होने बताया कि इस गैंग का मुखिया जशनदीप निवासी जगमालवाली है जिसके खिलाफ थाना कालांवाली में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज है । इसके अलावा जशनदीप के खिलाफ पंजाब के मानसा में शस्त्र अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज हुआ था और इस मामलें में वह पंजाब पुलिस की कस्टडी से फरार हो गया था । पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है और पूछताछ के दौरान अनेक वारदातों का खुलासा होने की संभावना से इंकार नही किया जा सकता ।पकड़े गए आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड हासिल किया जाएगा और रिमांड अवधि के दौरान औरोपियों की निशानदेही पर फिरौती की रकम व वारदात में प्रयुक्त हथियार बरामद किए जाएगें ।

Share