जिंदगी की जंग जीतकर लौटे बाह के जांबाज को सलाम करने को उमडी भीड़

20 दिन पहले कश्मीर में दो गोली लगने के बाद भी ढेर किये थे दो आतंकी

जैतपुर। 20 दिन पहले कश्मीर के शोपियां में हुई मुठभेढ में दो गोलियां लगने के बाद भी अदम्य साहस दिखाते हुए बाह के मलियाखेडा गांव के जांबाज जितेन्द्र सिंह ने दो आतंकियों को ढेर किया था। बुधवार को जिंदगी की जंग जीतने के बाद बाह का लाल घर लौटा तो,उसको सलामी देने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी।

अरनौटा से लेकर मलियाखेडा तक 50 किमी के सफर में बाह हाईवे पर जितेन्द्र सिंह की शौर्य गाथा को सलाम करने के लिए तिरंगा थामे लोग खडे हो गये। भारत माता की जय के उद्घोष के साथ उनको फूल मालाओं से लाद दिया। अरनौटा, बसई अरेला,‌स्याहीपुरा,भदरौली,होलीपुरा,फरैरा,नरहौली,बाह,बडागांव,नहटौली,जैतपुर,चित्राहाट आदि पर उनको रोककर सम्मानित किया गया। शौर्य गाथा सुनने वालों की आंखों में आंसू झलक पडे।जितेन्द्र ‌सिंह ने घर में मिले सम्मान पर कहा कि हौसला अफजाई के लिए सबका का शुक्रिया।

इस मौके पर बाह में भाजपा के जिलामंत्री मानवेन्द्र सिंह राठौर,पूर्व चेयरमैन दिवाकर सिंह गुर्जर,शैलेन्द्र गुर्जर,करतार सिंह गुर्जर,संजय उपाध्याय,हरीदास गुर्जर,सपन जैन,विनोद जैन,नेपाल सिंह गुर्जर उपस्थित रहे।