पाकिस्तान में हिंदुओं की स्थिति दयनीय,हिंदू मजबूरन कबूल रहे इस्लाम

सिंध (पाकिस्तान)।  पाकिस्तान में हिंदुओं की स्थिति दयनीय होती जा रहा है। यहां गरीबी और बदहाली झेल रहे हिंदू इस्लाम कबूलने को मजबूर हैं। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के बादिन जिले में दर्जनों हिंदू परिवार अपना धर्म छोड़कर इस्लाम कबूल रहे हैं। वह ‘एक ईश्वर’ की पद्धति की ओर बढ़ रहे हैं। जून महीने में यहां दर्जनों हिंदू परिवार परिवर्तित हुए। इस धर्म परिवर्तन समारोह की वीडियो क्लिप देशभर में वायरल हुईं थीं।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार और भेदभाव का मुद्दा कई बार उठा है। धर्म परिवर्तन के वीडियो क्लिप कई बार सामने आते रहे हैं। अब एक बार फिर से धर्म परिवर्तन के वीडियो क्लिप सामने आने के साथ ही वहां अल्पसंख्यकों की हालात की गंभीरता खुलकर सामने आई है। यहां बड़ी संख्या में सामूहिक धर्म परिवर्तन हो रहा है। यहां हिंदू संस्थागत भेदभाव झेल रहे हैं।

पाकिस्तान में हिंदुओं को नौकरी से लेकर घर, जमीन-जायदाद खरीदने तक में कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। इतनी ही नहीं, सरकारी सुविधाओं के लाभ से भी उन्हें वंचित रखने की कोशिश होती है।

उसके लिए भी इन्हें संघर्ष करना पड़ता है। ऐसे में अब वह धर्म परिवर्तन कर बहुसंख्यकों (मुस्लिमों) में शामिल होने को ही इस समस्या का हल मानने लगे हैं। वह इसे हिंसा और अत्याचार से बचने का रास्ता मानने लगे हैं।

कई हिंदू नेताओं का कहना है कि ऐसा करने पर उन्हें आर्थिक हालात भी मजबूर करते हैं। मोहम्मद असलम शेख ने कहा कि ये लोग समाज में जगह बनाना चाहते हैं और कुछ नहीं।

बता दें कि जून तक उनका नाम सावन भील था, फिर परिवर्तन के बाद अब मोहम्मद असलम शेख हो गया है। उनका कहना है कि हिंदू समाज के ज्यादातर लोग गरीबी के कारण धर्म परिवर्तन करते हैं।

मोहम्मद असलम शेख का कहना है कि धर्म परिवर्तन के लिए नौकरी, जमीन, घर जैसी चीजों का लालच दिया जाता है। यह लालच मुस्लिम मौलाना और चैरिटी ग्रुप के लोगों द्वारा दिया जाता है। इनके द्वारा दिए लालच में आकर दरीब हिंदू लोग धर्म परिवर्तन कर लेते हैं। एजेंसी