Home

 वैक्सीनेशन को लेकर एक्सपर्ट की बड़ी बात,जो जानना है जरूरी  

नई दिल्ली। वैक्सीनेशन प्रकिया के बीच एक बार आए कोरोना ने अपना कहर बरपाना शुरु कर दिया है। ऐसे में सरकार वैक्सीन के तीसरे डोज को देने का प्लान कर रही है। सरकार इस डोज को बूस्टर डोज का नाम दे रही है।अभी तक सरकार ने ऐलान किया कि सभी देशवासियों को वैक्सीन की दो डोज दी जाएगी। हालांकि अब एक्सपर्ट के एक पैनल ने भारत बायोटेक की  वैक्सीन तीसरी डोज देने की अनुमति दे दी है।

6 महीने बाद दिया जाएगी तीसरी डोज

बताया जा रहा है कि  एक्सपर्ट के एक पैनल ने तीसरे यानि की बूसटर डोज की अनुमति देते हुए कहा कि ये डोज दूसरे डोज के 6 महीने बाद दी जाएगी। इसका एक फायदा ये भी है कि अगर वायरस का कोई नया वैरिएंट आता है तो ये तीसरी डोज मानव शरीर को उस  वैरिएंट से लड़ने के लिए मजबूत बनाएगा।

इन लोगों को लगेगी वैक्सीन की तीसरी डोज

एक्सपर्ट पैनल ने बताया कि ये बूस्टर डोज उन वॉलंटियर्स को पहले दी जाएगी जो क्लीनिकल ट्रायल का हिस्सा हैं। आपको बता दें कि भारत बायोटेक ने कोरोना के यू टर्न के कारण सरकार के सामने प्रस्ताव रखा था कि वो इस तीसरे डोज की अनुमति दें।

6 महीने तक रखी जाएगी निगरानी

भारत बायोटेक ने बताया कि जिसको भी वैक्सीन की तीसरी डोज दी जाएगी  उसको 6 महीने तक निगरानी में रखा जाएगा। जिससे कि उन व्यक्तियों के शरीर में होने वाले बदलावों और इम्यूनिटी के लेवल के घटने और बढ़ने को बारीकी से परखा जाए।  इसके साथ ही तीसरी बूस्टर डोज लगने के बाद किसी को कोई साइड इफेक्ट न हो इसका भी ध्यान रखा जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button