टीबी फोरम की हुई बैठक,2025 तक भारत से टीबी रोग मुक्त कराने का लक्ष्य

टीबी फोरम की हुई बैठक,2025 तक भारत से टीबी रोग मुक्त कराने का लक्ष्य

फिरोजाबाद । राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत सामुदायिक सहभागिता बढ़ाने हेतु बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार दबरई में टीबी फोरम की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता मुख्य विकास अधिकारी चर्चित गौड़ ने की।

टीबी फोरम की बैठक में जिला क्षय रोग अधिकारी ने अध्यक्ष को अवगत कराया कि राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत सामुदायिक सहभागिता बहुत जरूरी है, जिसमें हमें सहयोग के लिए निगरानी समितियों पंचायती राज विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, ड्रग इंस्पेक्टर, औद्योगिक इकाई, आंगनवाडी कार्यकत्रियों, जनपद के सभी पेट्रोल पंपों का सहयोग डीएसओ के माध्यम से टीबी कार्यक्रम में लेना अति आवश्यक है। इन सभी के माध्यम से टीबी रोग के प्रति जनमानस को जागरूक किया जा सके तथा आईईसी प्रचार प्रसार द्वारा लोगों को टीबी के प्रति जानकारी व बचाव आदि के बारे में आम जनमानस को जागरूक किया जा सके।

अध्यक्ष  द्वारा राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत टीबी फोरम बैठक में बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए आह्वान के अनुसार 2025 तक भारत को टीबी रोग से मुक्त किया जाना है। जिसे इसके लिए अध्यक्ष  ने निर्देशित किया टीबी मुक्त गांव के लिए पंचायती राज विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, ड्रग इंस्पेक्टर, औद्योगिक इकाई आंगनवाडी कार्यकत्रियों जनपद के सभी पेट्रोल पंपों आदि से सहयोग प्राप्त करते हुए आम जनमानस में टीबी रोग का प्रचार प्रसार आईईसी के द्वारा कराया जाए, जिससे जनपद को टीबी मुक्त बनाया जा सके।

साथ ही अध्यक्ष  द्वारा टीबी रोग की जानकारी एवं सहायता हेतु टीबी आरोग्य साथी ऐप एवं टीबी टोल फ्री नंबर 1800 11 6666 के बारे में जनप्रतिनिधियों के माध्यम एवं समाचार पत्रों के माध्यम से वॉल पेंटिंग फ्लेक्स बैनर आदि के द्वारा जनमानस को जानकारी प्रदान की जाए एवं राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रत्येक टीबी मरीज को इलाज के दौरान प्रत्येक माह 500 निक्षय पोषण योजना के अंतर्गत पोषण आहार हेतु प्रदान किए जाते हैं का भी प्रचार प्रसार किया जाए।

बैठक में जिला विकास अधिकारी आरके कुरील, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रताप सिंह, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ अशोक कुमार, जिला कार्यक्रम समन्वयक आस्था तोमर, जिला पीपीएम समन्वयक मनीष यादव, पी एम डी टी एच आई वी कोऑर्डिनेटर दीपक जैन, टीबी एचवी व कार्यवाहक लेखाकार एनटीपी हरीश चंद्र, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से डॉ जलज गुप्ता, कारपोरेट प्रतिनिधि देवी चरण अग्रवाल, चेस्ट फिजिशियन डॉक्टर संजीव आनंद, एडवोकेट देवेंद्र यादव, प्रवीण शर्मा, वीरेश यादव, रेनू यादव, आहना, रेशम, शालिनी आदि ने प्रतिभाग किया।

 

Share