मनोरंजन

तांडव वेब सीरीज: खारिज हुई अमेजन प्राइम इंडिया हेड की जमानत

नई दिल्ली। अमेजॉन प्राइम की वेब सीरीज ‘तांडव’  पिछले लंबे समय से अपने कंटेंट को लेकर विवादों में घिरी हुई है। जिसका बाद ‘तांडव’ के मेकर्स के साथ-साथ अमेजॉन प्राइम वीडियो की इंडिया हेड अपर्णा पुरोहित के खिलाफ इलाहाबाद हाई कोर्ट में केस भी दर्ज करवाई गई थी जिसमें हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया गया है। ऐसे में अपर्णा पुरोहित ने अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट में याचिका दाखिल की थी लेकिन अब हाईकोर्ट ने उन्हें बड़ा झटका दे दिया है।

दरअसल, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ‘तांडव’ को लेकर नाराजगी जताई और अपर्णा पुरोहित की याचिका को भी खारिज कर दिया। वहीं जस्टिस सिद्धार्थ ने इस पूरे मामले पर कहा कि ‘समुदायों के बीच की दूरी को कम करना हमारे देश का काम है। लेकिन इन्होंने ‘एक तरफ तो गलत तरीके से किरदार दिखाने के कारण एक बड़े समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाया है और दूसरी तरफ सवर्ण और दलित जातियों के बीच दूरी बढ़ाए जाने का काम भी किया है।’

हालांकि विवाद बढ़ता देख कुछ दिन पहले डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी थी। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा कि ‘हम वेब सीरीज तांडव को लेकर दर्शकों की प्रतिक्रियाओं को बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के साथ सोमवार को एक मीटिंग के दौरान वेब सीरीज के विभिन्न पहलुओं और कॉन्टेंट से लोगों की भावनाओं को आहत करने को लेकर काफी संख्या में शिकायत मिली हैं।’ बता दें कि तांडव के अली अब्बास, राइटर गौरव सोलंकी सहित अन्य कलाकारों पर भगवान शिव जी और भगवान राम का मजाक बनाने का आरोप है जिससे हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है।

बता दें कि हालांकि विवाद बढ़ता देख कुछ दिन पहले डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी थी। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा कि ‘हम वेब सीरीज तांडव को लेकर दर्शकों की प्रतिक्रियाओं को बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के साथ सोमवार को एक मीटिंग के दौरान वेब सीरीज के विभिन्न पहलुओं और कॉन्टेंट से लोगों की भावनाओं को आहत करने को लेकर काफी संख्या में शिकायत मिली हैं।’

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button