महंगा हो सकता है फोन पर बात करना! ये कंपनियां प्राइस बढ़ाने की तैयारी में 

टेलीकॉम कंपनियां इस नए साल पर आपको बड़ा झटका दे सकती हैं।रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन आइडिया और एयरटेल अपने टैरिफ को 10-20% तक बढ़ाने की प्लानिंग कर रही हैं। ये कंपनियां अभी नुकसान में चल रही हैं और इसी के चलते टैरिफ में बढ़ोतरी पर विचार किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि कंपनियां नए टैरिफ का ऐलान दिसंबर के आखिर या 2021 की शुरुआत में कर सकती हैं। इस मामले से जुड़े एक शख्स ने बताया कि अभी टेलीकॉम कंपनियां रेगुलेटर की तरफ से फ्लोर प्राइस फिक्स करने का इंतजार कर रही हैं।बता दें कि अभी वोडाफोन प्रति यूज़र 119 रुपये,एयरटेल 162 रुपये के हिसाब से कमाई कर रहे हैं। अब देखना ये होगा कि आने वाले साल में ग्राहकों को कितना ज़्यादा खर्च करना होगा।

बताया गया है कि वैसे तो कंपनियां 25% टैरिफ बढ़ाना चाहती हैं लेकिन एक बार में कीमत में इतनी बढ़ोतरी मुमकिन नहीं है।जानकारी के लिए बता दें कि वोडाफोन,एयरटेल ने पिछले साल (2019) भी टैरिफ की कीमतें बढ़ाईं थीं।वोडाफोन-आइडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर रविंदर टक्कर ने भी कहा है कि अभी जो दाम हैं वह टिकने वाले नहीं हैं और दाम बढ़ेंगे।साथ ही उन्होंने ये भी उम्मीद जताई है कि उनके बाकी कॉम्पटीटर्स भी अपने टैरिफ के दाम बढ़ाएंगे।रविंदर टक्कर ने दूसरी तिमाही के नतीजों के बाद ही कह दिया था कि डेटा के लिए फ्लोर प्राइस के फैसले का इंतजार नहीं किया जा सकता है और टैरिफ के दाम बढ़ाने होंगे।

हालांकि,उन्होंने ये भी ध्यान रखने के लिए कहा कि ये देखना होगा कि कीमतें बढ़ाने का सही समय क्या होना चाहिए। आगे उन्होंने कहा कि ये तय समझा जाए कि जल्द ही टैरिफ रेट बढ़ाए जाएंगे।वहीं एक्सपर्ट्स की मानें तो वोडाफोन के लिए अब टैरिफ की कीमत बढ़ाना बहुत ज़रूरी हो गया है,क्योंकि जल्द ही उसे AGR की किस्त का भुगतान करना है।