निशानेबाज अवनी लेखरा ने टोक्यो पैरालंपिक में जीता गोल्ड मेडल 

निशानेबाज अवनी लेखरा ने टोक्यो पैरालंपिक में जीता गोल्ड मेडल 

टोक्यो। भारतीय निशानेबाज अवनी लेखरा ने सोमवार 30 अगस्त को ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए टोक्यो पैरालंपिक में स्वर्ण पदक हासिल किया। इसी के साथ अवनी पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गईं हैं। अवनी ने महिलाओं की 10-मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच 1 स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। जानकारी के लिए बता दें कि 19 वर्षीय अवनी ने कुल 249.6 के विश्व रिकॉर्ड स्कोर के साथ स्वर्ण पदक जीता है,जो एक नया पैरालंपिक रिकॉर्ड भी है। अवनि के अलावा आज के दिन में भारतीय भाला फेंक खिलाड़ी देवेंद्र झाझरिया और सुंदर सिंह गुर्जर ने पुरुषों की स्टैंडिंग जेवलिन (एफ46) में क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीता। भारतीय एथलीट योगेश कथूनिया ने भी पुरुषों की चक्का फेंक प्रतियोगिता के एफ56 वर्ग में रजत पदक जीता।

स्वर्ण पदक जीतने वाली चौथी एथलीट बनी

अवनी लेखारा, तैराक मुरलीकांत पेटकर (1972), भाला फेंक एथलीट देवेंद्र झाझरिया (2004 और 2016) और हाई जम्पर थंगावेलु मरियप्पन (2016) के बाद पैरालंपिक स्वर्ण जीतने वाली चौथी भारतीय एथलीट हैं। इसके अलावा महिलाओं की श्रेणी में मेडल जीतने वाली तीसरी महिला खिलाड़ी बनी हैं। अवनि से पहले दीपा मलिक और भाविना पटेल ने पैरालंपिक खेलों में मेडल जीता है।

क्वालिफिकेशन राउंड में सातवें स्थान पर रहीं

जयपुर की अवनी ने इस स्पर्धा के क्वालिफिकेशन राउंड में 21 निशानेबाजों के बीच सातवें स्थान पर रहकर फाइनल्स में प्रवेश किया था। उन्होंने 60 सीरीज के छह शॉट के बाद 621.7 का स्कोर बनाया, जो शीर्ष आठ निशानेबाजों में जगह बनाने के लिए पर्याप्त था। भारतीय निशानेबाज ने शुरू से आखिर तक निरंतरता बनाए रखी और लगातार 10 से अधिक के स्कोर बनाए। चीन की झांग कुइपिंग और यूक्रेन की इरियाना शेतनिक 626.0 के पैरालंपिक क्वालीफिकेशन रिकार्ड के साथ पहले दो स्थान हासिल किए।

कौन हैं अवनि लेखरा ?

जयपुर की रहने वाली अवनि ने लॉ की पढ़ाई की है। वर्ष 2012 में एक कार दुर्घटना के बाद से वे रीढ़ की हड्डी से जुड़ी तकलीफ का सामना कर रही हैं। लेकिन इस चुनौती के बाद भी अवनि ने हार नहीं मानी और शूटिंग में अपनी किस्मत आजमानी शुरू की,जहां उन्होंने लगातार सफलताएं हासिल कीं। अवनि ने वर्ष 2017 में यूएई विश्व कप में हिस्सा लेकर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था। इसके बाद वर्ष 2019 में उन्हें गोस्पोर्ट्स फाउंडेशन द्वारा भारत में मोस्ट प्रॉमिसिंग पैरालंपिक एथलीट नामित किया गया था।

पीएम मोदी ने बधाई

अवनि की इस जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए उन्हें बधाई दी है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, “कड़ी मेहनत से स्वर्ण पदक जीतने के लिए बधाई। यह आपके मेहनती स्वभाव और शूटिंग के प्रति जुनून के कारण संभव हुआ है। यह वास्तव में भारतीय खेलों के लिए एक विशेष क्षण है, भविष्य के लिए आपको बहुत शुभकामनाएं।”

पीएम मोदी के अलावा खेल मंत्री अनुराग ठाकुर,वित्त मंत्री निर्मला सीतारमणकेंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी,असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा,पूर्व भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग,फिल्म कलाकार अक्षय कुमार सैकड़ों दिग्गजों ने बधाई दी है।

दीपा मलिक ने बधाई

अवनि पैरालंपिक खेलों में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला हैं। अवनि की इस जीत पर पैरालंपिक कमेटी ऑफ इंडिया की अध्यक्ष दीपा मलिक ने उन्हें बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि वो अवनि लेखारा को भारत को पहला पैरा शूटिंग मेडल दिलाने के लिए बधाई देती हैं।

 

Share