कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बुधवार सुबह निधन हो गया। एक महीने पहले वह कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए थे,जिसके बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।इस दौरान उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।सुबह 3:30 बजे उन्होंने अंतिम सांसें लीं। अहमद पटेल को गुजरात के भरूच स्थित उनके पैतृक गांव पीरामन में ही गुरुवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।

पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था। वे 3 बार लोकसभा सांसद (1977 से 1989) और 5 बार राज्यसभा सांसद (1993 से 2020) रहे। उन्होंने पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा था और 62 हजार 879 वोटों से जीते थे।तब उनकी उम्र सिर्फ 28 साल थी।1980 में पटेल भरूच से ही 82 हजार 844 वोटों से और 1984 में 1 लाख 23 हजार 69 वोटों से जीत दर्ज की थी।

अहमद पटेल 2001 से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार थे। जनवरी 1986 में वे गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे।1977 से 1982 तक यूथ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रहे।सितंबर 1983 से दिसंबर 1984 तक वे कांग्रेस के जॉइंट सेक्रेटरी रहे। बाद में उन्हें कांग्रेस का कोषाध्यक्ष बनाया गया था।अहमद पटेल अपने पीछे पत्नी मेमूना पटेल,बेटा फैजल पटेल,बेटी मुमताज पटेल को छोड़ गए हैं।अहमद पटेल ने 1976 में मेमूना अहमद से शादी की थी।पटेल का परिवार राजनीति से फिलहाल दूर है।