निस्वार्थ मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म

निस्वार्थ मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म

फिरोजाबाद। निस्वार्थ मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है और पुण्य का कार्य भी। भूखे को भोजन,प्यासे को पानी पिलाने से ईश्वर प्रसन्न होता है।शहर में कोविड-19 महामारी के समय देवदूत शिक्षण संस्थान गरीब एवं असहाय परिवारों के बच्चों को निशुल्क शिक्षा तथा विगत 10 मई से निरंतर गरीब लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहा है।

इसी कड़ी में,रविवार को संस्थान के द्वारा नगर के रामलीला पार्षद स्थित सिल्लोड सरकार बगीची में लगभग 200 गरीब व्यक्तियों को बैठा कर भोजन कराया गया। इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि मेयर नूतन राठौर और उनके पति नीरज सिंह राठौर रहे। उन्होंने गरीब व्यक्तियों को भोजन परोसा तथा बगीची में वृक्षारोपण किया।

इस अवसर पर राष्ट्र सेविका समिति महानगर कार्यवाहिका विभूति वर्मा,समिति अध्यक्ष बालकिशन गुप्ता,संरक्षक प्रदीप टंडन,मुकेश विद्यार्थी,पवन तेनगुरिया,राजीव यादव,शत्रुघ्न दीक्षित,विशाल मोहन यादव,प्रभारी हिमांशु अग्रवाल,सुभम सिंघल,नमन बंसल,सुरेश राजपूत,हरिओम वर्मा पार्षद,प्रमोद राजोरिया पार्षद,जितेंद्र अग्रवाल,सागर अग्रवाल,सजल अग्रवाल,पार्थ उपाध्याय,विष्णु अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।

 

Share