खुले स्थानों पर संघ की शाखाएं लगना शुरू

घरों में शुरू हुई कुटुंब शाखाएं बंद होकर लगेगी विधिवत शाखाएं

फ़िरोज़ाबाद । वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए खुले स्थानों पर बंद हुई राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाएं सोमवार से हवन – पूजन के उपरांत मैदानों में लगना शुरू हो गई हैं।सैकड़ों संघ कार्यकर्ताओं ने उत्साह के साथ शाखा में प्रतिभाग किया।
चाइनीज वायरस के कारण उत्पन्न कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम में सहयोग के लिए आरएसएस संगठन ने कोरोना काल में बंदी से पूर्व ही मैदानों में लगने वाली शाखाओं को बंद करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद स्वयंसेवकों के घरों में पारिवारिक सदस्यों के साथ कुटुंब शाखाएं लगना प्रारंभ हुई थीं।
बंदी से प्रभावितों की सेवा और कोरोना योद्धाओं के सहयोग व सम्मान में स्वयंसेवकों ने बढ़- चढ़कर हिस्सा लिया।

इस दौरान कार्यकर्ताओं को सक्रिय रखने के उद्देश्य से ऑनलाइन माध्यमों से विभिन्न प्रकार के संवाद एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम संघ द्वारा आयोजित किए जाते रहे।संघ के विभिन्न पर्व एवं अन्य आयोजन भी पारिवारिक शाखाओं में ही कार्यकर्ताओं ने मनाए। प्रतिवर्ष संघ स्वयंसेवकों द्वारा की जाने वाली गुरु दक्षिणा के कार्यक्रम भी ऑनलाइन ही आयोजित किए गए।


चंद्र नगर विभाग प्रचारक धर्मेंद्र भारत ने बताया कि संघ नेतृत्व के निर्देश पर सोमवार से महानगर सहित जिले के सभी नगरों एवं खंडों में संघ स्थानों पर हवन – पूजन एवं हनुमान चालीसा का पाठ करने के उपरांत कार्यकर्ताओं ने विधिवत शाखा लगाना प्रारंभ कर दिया है। कार्यकर्ता निर्माण एवं संघ विस्तार में शाखाओं का विशेष महत्व है। शाखा पर होने वाले शारीरिक एवं बौद्धिक कार्यक्रमों से स्वयंसेवकों के समग्र व्यक्तित्व का विकास होता है।
संघ स्थान पर विभिन्न खेलों एवं योग प्राणायाम के द्वारा विकसित रोग प्रतिरोधक शक्ति किसी भी तरह की संक्रमण से होने वाले रोगों के बचाव में सहायक होगी।