आरएसएस: कोविड–19 से मृतकों के परिजनों का सहारा बनेंगे स्वयंसेवक

आरएसएस: कोविड–19 से मृतकों के परिजनों का सहारा बनेंगे स्वयंसेवक

– चंद्रनगर विभाग में ’कुटुंब संभाल योजना’ शुरू करेगा संघ
–संक्रमण से परिजनों के निधन से प्रभावित परिवारों की मदद करेंगे स्वयंसेवक
फिरोजाबाद। कोविड-19 के संक्रमण से लगातार जान गंवाने वालों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है। चिकित्सा के दौरान अस्पतालों के महंगे खर्चे मध्यम वर्गीय परिवार पर कर्ज का बोझ लाद देते हैं। वहीं परिवारों में कमाऊ व्यक्ति के गुजर जाने के बाद परिजनों के सामने दुखों का पहाड़ खड़ा हो जाता है। ऐसे जरूरतमंद परिवारों की मदद करने का बीड़ा आरएसएस कार्यकर्ताओं ने कुटुंब संभाल योजना के तहत उठाया है।

फिरोजाबाद और मैनपुरी जिले को मिलाकर संघ दृष्टि से चंद्र नगर विभाग में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यकर्ता कोरोना संक्रमण के कारण अपनों को खोने वाले ऐसे परिवारों की मदद करेंगे। जिनके परिवारों में कमाऊ व्यक्ति का निधन हो गया है अथवा आर्थिक स्थिति सही होने के बावजूद भी किसी परिजन के निधन के बाद घर में केवल महिलाएं बुजुर्ग और बच्चे रह गए हैं।

सह विभाग कार्यवाह चंद्रनगर ब्रजेश यादव ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण से अपनों को गंवाने वाले और परिवार के मुख्य व्यक्ति के निधन के कारण परेशानी उठा रहे परिवारों की देखभाल कुटुंब संभाल योजना के अंतर्गत की जाएगी। ऐसे जरूरतमंद परिवारों की जानकारी कर नगर एवं खंड स्तर पर कार्यकर्ता उनकी मदद के लिए जुटेंगे। इस संबंध में शीघ्र ही कार्यकर्ताओं की बैठकें शुरू की जाएंगी।

परिवारों के सामने उत्पन्न विषम परिस्थितियों और उनकी तात्कालिक समस्याओं के निराकरण के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र,बैंक खाते में नाम ट्रांसफर,बैंक एफडी निकालने,पोस्ट ऑफिस में जमा पैसा निकालने,सरकारी व निजी नौकरी में पीएफ दिलाने,एलआईसी की पॉलिसी का पैसा और नॉमिनी को लाभ दिलाने में कार्यकर्ता सहयोग करेंगे। जिसके लिए संघ से जुड़े बैंकों के रिटायर्ड अधिकारी,सीए,एलआईसी एजेंट,पीएफ के अधिकारी,जिला प्रशासन और नगर निगम के जानकारों की टोली बनाकर परिवारों को आवश्यक प्रशासनिक जानकारी एवं जरूरी सुझाव दिए जाएंगे।

शिक्षा,स्वास्थ्य व स्वावलंबन के क्षेत्र में की जाएगी मदद

चंद्रनगर विभाग प्रचारक धर्मेंद्र भारत ने बताया कि संघ दृष्टि से विभाग के अंतर्गत चंद्रनगर महानगर, शिकोहाबाद एवं मैनपुरी इकाइयों के कार्यकर्ता कुटुंब संभाल योजना के अंतर्गत शिक्षा क्षेत्र में मृतक के प्रभावित परिवारों से संपर्क कर ऐसे परिवारों के बच्चों की पढ़ाई में सहायता करेंगे। बच्चों की पढ़ाई के लिए स्कूल कॉलेजों से संपर्क कर मुफ्त शिक्षा,फीस में अधिकतम छूट और प्रवेश में आने वाली कठिनाइयों के निराकरण में सहयोग करेंगे।वहीं बुजुर्ग माता-पिता, बच्चों एवं महिलाओं के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए ऐसे परिवारों से नियमित संपर्क,संवाद और चिकित्सकीय सहायता में सहयोगी भूमिका निभाएंगे। किसी गंभीर बीमारी में अस्पताल आने– जाने एवं भर्ती कराने में सहयोग करेंगे।

स्वावलंबन के क्षेत्र में ऐसे परिवार जहां सरकारी नौकरी करने वाले के निधन की स्थिति में उसके परिजन को मृतक आश्रित कोटे से नौकरी दिलाने के लिए आवश्यक सरकारी औपचारिकताएं पूरी कराने में स्वयंसेवक सहायता करेंगे। निजी व्यवसाय अथवा कृषि करने वाले परिजन के निधन से उत्पन्न स्थिति की भरपाई के लिए उनके परिजनों की हर संभव सहायता में स्वयंसेवक पूरी निष्ठा से जुटेंगे।

Share