राहुल गांधी संसद में आएं और 1962 से अब तक के हालात पर दो-दो हाथ कर ले

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लद्दाख मसले  पर केंद्र सरकार को लगातर घेर रहे हैं। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चीन के सामने सरेंडर का आरोप लगाया था। गृह मंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी के आरोपों का जवाब दिया है। शाह ने कहा कि वह चर्चा से नहीं डरते। राहुल गांधी संसद में आएं और 1962 से अब तक के हालात पर दो-दो हाथ कर लें।

उन्होंने आगे कहा, “भारत-चीन पर बात कर सकते हैं लेकिन जब जवान चीन का सामना कर रहे हैं, उस वक्त ऐसे बयान नहीं देने चाहिए जिससे पाकिस्तान और चीन को खुशी हो।”

राहुल गांधी के सरेंडर मोदी वाले बयान पर शाह ने कहा, “कांग्रेस और राहुल को खुद इस बारे में सोचना चाहिए। उनकी इस बात को पाकिस्तान और चीन में लोग हैशटैग बनाकर इस्तेमाल कर रहे थे। कांग्रेस को इसके बारे में सोचना चाहिए कि उनकी पार्टी के नेता का हैशटैग चीन-पाकिस्तान को बढ़ावा देता है।वह भी ऐसे संकट के वक्त में।”

शाह ने कहा, “सरकार भारत विरोधी प्रोपगेंडा से लड़ने में सक्षम है लेकिन यह देखकर दुख होता है कि इतनी बड़ी पार्टी का पूर्व अध्यक्ष ऐसी ‘ओछी’ राजनीति करता है।”। एजेंसी