विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की तैयारी शुरू

विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की तैयारी शुरू

आगाज
• 11 जुलाई को मनाया जायेगा विश्व जनसंख्या दिवस
• 31 जुलाई तक चलेगा विश्व जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा
• 27 जून से 10 जुलाई तक चलेगा दंपति संपर्क पखवाड़ा
• खास सन्देश के साथ जनपद में किया जाएगा प्रचार-प्रसार

फ़िरोज़ाबाद । आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी, जी हाँ ! इस बार विश्व जनसंख्या दिवस की यही थीम है। इस खास दिवस को विधिवत मनाने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मिशन निदेशक ने मंगलवार को सभी जिलाधिकारियों को पत्र भेजा है। साथ ही यह भी निर्देश दिया है कि कन्टेनमेंट एरिया या बफर जोन छोड़कर सभी कार्य कोविड –19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए ही संपन्न किये जाएं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि बीते वर्षों की भांति इस वर्ष भी 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जायेगा। इस खास दिन के पहले दंपति संपर्क पखवाड़ा मनाया जायेगा। जो 27 जून से शुरू होकर 10 जुलाई तक चलेगा। वहीँ 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के साथ ही पूरे प्रदेश में विश्व जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा की शुरुआत की जाएगी। जो 31 जुलाई तक चलेगा। इसके साथ ही मिशन निदेशक ने मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के अंतर्गत चिन्हित 57 जिलों में मिशन परिवार विकास अभियान संबंधी गतिविधियों को सचारू रूप से चलाने के लिए भी निर्देशित किया है।

ऐसे मनाया जायेगा पखवाड़ा
27 जून से 10 जुलाई तक दंपति संपर्क पखवाड़ा चलेगा। इस दौरान जनपद की आशा अपने-अपने कार्य क्षेत्र की आबादी में योग्य दंपति को चिन्हित करेंगी। योग्य दंपति यानि जिनको परिवार नियोजन के बारे में परामर्श की आवश्यकता है। लक्षित दंपति को परिवार नियोजन के लिए बास्केट ऑफ चॉइस के बारे में बताया जायेगा। आवश्यकता पड़ने पर टेली काउंसिलिंग की भी मदद ली जाएगी। पखवाड़ा के दौरान हर जिले,ब्लाक और गांव में मोबाईल पब्लिसिटी वैन से परिवार नियोजन का सन्देश जोर शोर से प्रचारित और प्रसारित किया जाएगा। इस बार के कार्यक्रम में डिजिटल प्लेटफार्म जैसे व्हाट्सएप, एसएमएस आदि की पूरी मदद ली जाएगी। वहीँ विश्व जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा का शुभारंभ जिले स्तर पर किसी माननीय से कराये जाने की योजना है। साथ ही पात्र लाभार्थी को दो महीने के लिए गर्भनिरोधक गोली और कंडोम वितरित किया जाएगा। इस दौरान अंतरा और आईयूसीडी को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। हर इच्छुक लाभार्थी के लिए पुरुष या महिला नसबंदी की पूर्व पंजीकरण की भी सुविधा होगी।

Share