भारत-चीन सीमा तक डबल लेन सड़क की योजना तैयार

भारत-चीन सीमा तक डबल लेन सड़क की योजना तैयार

नई दिल्ली। भारत-तिब्बत सीमा क्षेत्र के गांवों के साथ ही भारत- चीन सीमा क्षेत्र में तैनात सेना के जवानों को जल्द ही डबल लेन सड़क की सुविधा मिलेगी। बीआरओ ने घाटी को यातायात से जोड़ने वाली मलारी-नीती सड़क के चौड़ीकरण की योजना तैयार कर ली है। जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना को वित्तीय वर्ष 2023-2024 तक पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है।

18 किलोमीटर डबल लेन निर्माण की योजना तैयार

नीती घाटी के 15 से अधिक गांवों के साथ ही भारत-तिब्बत सीमा क्षेत्र को जोड़ने वाली जोशीमठ-मलारी सड़क को उपयोगिता के अनुसार मलारी तक पूर्व में बीआरओ की ओर से डबल लेन किया गया था। अब सीमा क्षेत्र में सैन्य सामग्री को सुगमता से सीमा क्षेत्र में पहुंचाने और द्वितीय रक्षा पंक्ति के गांवों को बेहतर यातायात सुविधा प्रदान करने के लिए बीआरओ ने 18 किलोमीटर मलारी से नीति सड़क के डलब लेन निर्माण की योजना तैयार कर ली है। इस योजना के तहत सड़क पर कुल 17 पुल बनेंगे।

डबल लेन सड़क का होगा निर्माण

बीआरओ (जोशीमठ) के कमांडर कर्नल मनीष कपिल के मुताबिक मलारी से नीती गांव तक सड़क को डबल लेन निर्माण की योजना तैयार की गई है। सड़क निर्माण और वित्तीय स्वीकृति का इंतजार किया जा रहा है।

 

Share