पाकिस्तान ने माना भारत का हिस्सा है pok,सरकारी वेबसाइट पर नक्शा किया था जारी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस जैसी महामारी के दौर में भी पाकिस्तान अपनी छोटी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। हाल में कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में वह कोरोना के नाम पर अपने ही नागरिकों के साथ भेद-भाव कर रहा है।

वह पीओके में लोगों के बाजार नहीं खोलने दे रहा है। दरअसल पाकिस्तान ऐसा इसलिए कर रहा था क्योंकि पिछले कुछ दिनों से भारत ने पीओके को लेकर अपने रूख में बदलाव किया है और कई बार पाकिस्तान को चेतावनी दी कि वह पीओके को खाली करे। क्योंकि वह भारत का हिस्सा है।

बेशक पाकिस्तान ने भारत की बात न मानी हो लेकिन सरकारी कागजों में तो उसने भी माना है कि पीओके समेत पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा है। बता दें अभी हाल में पाकिस्तान में कोरोना अपडेट देने वाली सरकारी वेबसाइट ने माना है कि पीओके भारत का हिस्सा है।

उसने अपने नक्शे में पीओके को पूरे भारत का हिस्सा दिखाया है। हालांकि बाद में मीडिया में खबर आने के बाद नक्शे से वह दृश्य हटा लिए गए थे। लेकिन जब तक लोगों ने इसके फोटो ले लिए थे।

बता दें पिछले कुछ दिनों से दोनों देश के बीच पीओके को लेकर काफी तनाव है। अभी कुछ दिनों पहले भारत सरकार ने पाकिस्तान को स्पष्ट किया था कि पीओके भारत का हिस्सा है।

इसी के तहत भारत ने डीडी न्यूज और आकाशवाणी पर अपने न्यूज बुलेटिन में पीओके के मीरपुर और मुजफ्फराबाद का भी तापमान बताया था। भारत ने कहा था कि वह उसके क्षेत्र हैं इसलिए वह अपने लोगों को अपने क्षेत्र का तापमान बता रहे हैं। जिसके पाकिस्तान की तरफ से विरोध किया गया था। एजेंसी