Home Blog Page 3

तेलंगाना: कुएं से मिली नौ लाशों की गुत्थी आखिर सुलझ ही गई,कैसे सुलझी जानिए

0
प्रतीकात्मक तस्वीर

तेलंगाना।  वारंगल की पुलिस ने बीते हफ्ते एक कुएं से मिली नौ लाशों के मामले की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने नौ लोगों की हत्या का खूनी खेल सिर्फ इसलिए खेला ताकि इस राज से पर्दा ना उठ सके कि वह अपनी प्रेमिका की हत्या कर चुका है। पुलिस ने आरोपी बिहार के प्रवासी मजदूर संजय कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया है ।

जानकारी के अनुसार, तीन दिन पहले गोरेकुंटा गांव से जो 9 शव मिले थे उनमें से 6 एक ही परिवार के सदस्य थे। इस मामले की छानबीन छह स्पेशल पुलिस टीम कर रही थीं। पुलिस ने दावा किया है कि 26 साल के आरोपी संजय कुमार यादव को सोमवार को जब गिरफ्तार किया गया तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

वारंगल पुलिस के कमिश्नर डॉक्टर रविंदर ने बताया कि 21 और 22 मई को कुएं से यह सभी लाशें मिली थीं। मामले की जांच शुरू की तो आरोपी संजय कुमार यादव का नाम सामने आया। संजय ने अपनी प्रेमिका रफीका की हत्या का अपराध छुपाने के लिए यह सब किया था।

उन्होंने कहा कि जिस कुएं से शव मिले थे, उसके पास ही बोरे बनाने की फैक्ट्री है। यहां पर प्रवासी मजदूर रहते हैं। आरोपी संजय यहीं रहता था। उसके साथ पश्चिम बंगाल का रहने वाला मकसूद पत्नी निशा और परिवार के छह सदस्यों के साथ रहता था। इनके साथ बिहार के दो और त्रिपुरा का एक युवक भी रहता था।जांच में पता चला कि संजय के निशा की भतीजी रफीका (37) के साथ अवैध संबंध थे।

रफीका भी पश्चिम बंगाल की ही रहने वाली थी, मगर वह अपने पति से अलग हो गई थी। उसके तीन बच्चे थे। यहीं संजय ने एक कमरा किराए पर ले रखा था, जहां वह रफीका के साथ रहता था।

उन्होंने बताया कि कुछ समय से संजय की रफीका की बेटी पर भी गलत नजर थी। यह बात पता चलने पर रफीका ने संजय को उसकी बेटी से दूर रहने और पुलिस में मुकदमा दर्ज कराने तक की चेतावनी दी थी। इसके बाद ही संजय ने रफीका की हत्या की साजिश रची। उसने मकसूद को बताया कि वह रफीका से शादी करना चाहता है।इसके लिए रफीका के परिजन से बात करने बंगाल जा रहा है।

उन्होंने बताया कि बीती सात मार्च को संजय और रफीका पश्चिम बंगाल जाने के लिए ट्रेन में चढ़े थे। सफर के दौरान संजय ने रफीका को खाने में नींद की गोली मिलाकर दे दीं। रफीका के बेहोश हो जाने पर आरोपी ने उसका गला घोंट दिया और शव को ट्रेन से फेंक दिया। इसके बाद आरोपी संजय वारंगल वापस आ गया।

जब निशा ने उससे रफीका के बारे पूछा तो वह ठीक से जवाब नहीं दे पाया। इसके बाद निशा ने उसे पुलिस में मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी। इससे आरोपी डर गया और हत्या की साजिश रचने लगा। आरोपी संजय 16 मई से 20 मई के बीच मकसूद के परिवार से मिलने आता रहा। इस दौरान उसे 20 मई को मकसूद के बड़े बेटे का जन्मदिन होने के बारे में पता चला।

आरोपी ने यह जानकारी मिलने पर नींद की दवा खरीदी और मकसूद के घर पहुंचकर उनके खाने में मिला दी। इस मौके पर मकसूद का एक दोस्त शकील भी वहीं मौजूद था। फैक्ट्री के पहली मंजिल पर भी दो मजदूर थे। आरोपी ने उनके खाने में भी नींद की दवा मिला दी, उसे डर था कि यह लोग भी उसका भांडा फोड़ सकते हैं। इसके बाद जब सभी खाना खाकर सो गए, तब रात करीब 12:30 बजे संजय उठ गया। उसने सभी को बोरों में बंद करके कुएं में फेंक दिया।  एजेंसी

अलका लांबा ने पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी पर की आपत्तिजनक टिप्पणी,एफआईआर दर्ज

0

लखनऊ। कांग्रेस नेता अलका लांबा के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किए गए वीडियो में मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए जजों की प्रतिष्ठा पर भी सवाल उठाए थे।

जिस पर राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य डॉ. प्रीती वर्मा की तहरीर पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा ने कहा कि मामले की छानबीन की जा रही है।

बता दें कि अलका लांबा भाजपा पर लगातार हमलावर हैं। एफआईआर दर्ज होने पर उन्होंने प्रतिक्रिया देते हुए हैशटैग भाजपा से सवाल करो के साथ ट्वीट किया कि जवाब मिलने तक बवाल करो।

उनके खिलाफ एफआईआर की तहरीर में डॉ. प्रीती वर्मा ने कहा था कि उनकी ये टिप्पणी बच्चों और आने वाली नौजवान पीढ़ी पर बहुत बुरा असर डाल सकती है। एजेंसी

भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 1,45,380 हुई, 41.61 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके

0

नई दिल्ली। भारत में सोमवार सुबह 8 बजे से कोविड-19 से 146 और लोगों के जान गंवाने के साथ ही देश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 4,167 हो गई है, वहीं 6,535 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,45,380 हो गए।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अभी कोरोना वायरस के 80,722 मरीजों का इलाज जारी है जबकि 60,490 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं और 1 देश छोड़कर चला गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि देश में अभी तक करीब 41.61 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं। कुल पुष्ट मामलों में विदेशी भी शामिल हैं।

मंत्रालय के अनुसार सोमवार सुबह से जिन 146 लोगों की जान गई, उनमें महाराष्ट्र के 60, गुजरात के 30, दिल्ली के 15, मध्यप्रदेश के 10, तमिलनाडु के 7, पश्चिम बंगाल के 6, उत्तरप्रदेश तथा राजस्थान के 4-4, तेलंगाना के 3, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर तथा कर्नाटक के 2-2 और केरल का 1 व्यक्ति शामिल है। एजेंसी

कामरान ने कबूला एक करोड़ के खातिर योगी आदित्यनाथ को दी थी धमकी

0

लखनऊ।  कामरान नाम के एक शख्स ने उत्तर प्रदेश पुलिस के सोशल मीडिया हेल्प डेस्क को फोन किया और सीधे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  को उड़ाने की धमकी दे डाली। मामला अपराध का था तो मुंबई में रहने वाले इस शख्स को महाराष्ट्र एटीएस  ने उठा लिया।

25 वर्षीय आरोपी कामरान अब उत्तर प्रदेश पुलिस की एसटीएफ  के कब्जे में और पूछताछ चल रही है। इसी पूछताछ में कामरान ने बताया कि उसे योगी आदित्यनाथ को धमकी देने के बदले एक करोड़ रुपये देने का वादा किया गया था। हालांकि, कामरान ने यह नहीं बताया है कि उसे पैसों का ऑफर देने वाला शख्स कौन है।

इससे पहले यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात लगभग साढ़े बारह एक वॉट्सऐप मैसेज आया था। यह मैसेज यहां के सोशल मीडिया डेस्क के नंबर 7570000100 पर आया था।

मेसेज में लिखा था, ‘सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं। (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है वो।’ यह मेसेज आने के बाद उच्चाधिकारियों को इसी सूचना दी गई। इसके बाद गोमती नगर थाने में धारा 505 (1) बी, 506 और 507 के तहत केस दर्ज किया गया था।

कामरान को रविवार के दिन मुंबई से गिरफ्तार किया गया और स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जिसके बाद उसे ट्रांजिट रिमांड में भेजते हुए यूपी एसटीएफ के हवाले कर दिया गया। कामरान की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस को धमकी भरी कॉल आई है।

महाराष्ट्र एटीएस ने बताया कि धमकी भरी यह कॉल लखनऊ पुलिस की स्पेशल मीडिया डेस्क को आई है। इस कॉल पर कहा गया, ‘जिसे गिरफ्तार किया है, उसे छोड़ दो वरना अंजाम भुगतना पड़ेगा।

दूसरी धमकी मिलते ही महाराष्ट्र एटीएस को सूचना दी गई। एटीएस की नासिक यूनिट ने 20 साल के एक युवक इस धमकी भरे कॉल के लिए नासिक के भद्रकाली इलाके से गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस कामरान से उसके संबंध के बारे में जांच कर रही है। यूपी पुलिस के अलावा इस मामले में मुंबई और महाराष्ट्र की पुलिस भी पूरी तरह से जुटी हुई है और धमकी देने की पूरी सच्चाई तलाशने की कोशिश की जा रही है। एजेंसी

भारत में फंसे चीन के छात्र जायेंगे अपने देश,27 मई तक करना होगा ये काम

0

नई दिल्ली। दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस का कहर भारत में हर दिन तेजी से बढ़ता जा रहा है। ऐसे में चीन ने भारत में रह रहे अपने नागरिकों को वापस लाने की योजना बनाई है। सोमवार को चीनी दूतावास ने एक नोटिस जारी कर दी, वहीं चीन के इस फैसले का एक कारण भारत और चीन सीमा पर सैनिकों के बीच बढ़ते तनाव को भी माना जा रहा है।

चीन की ओर से दूतावास की वेबसाइट पर प्रकाशित इस नोटिस में साफ तौर से कहा गया है कि भारत में फंसे चीन के छात्रों, व्यापारियों, पर्यटकों को विशेष उड़ानों के माध्यम से चीन वापस लौटने की अनुमति दे दी जाएगी।

वहीं चीन ने नोटिस में देश वापस लौटने की इच्छा रखने वाले लोगों से कहा है कि वे सभी 27 मई की सुबह तक इसके लिए रजिस्ट्रेशन करा लें। इसके अलावा नोटिस में यह भी साफ चेतावनी दे दी गई है कि जो भी नागरिक देश वापसी कर रहे हैं वह अपनी मेडिकल हिस्ट्री बिल्कुल ना छिपाएं, इन चीनी नागरिकों में भारत में योगाभ्यास करने या बौद्ध स्थल देखने आए लोग भी शामिल हैं।

चीन द्वारा प्रकाशित यह नोटिस मंदारिन भाषा में लिखी गई है, जिसके मुताबिक चीन वापसी करने वाले यात्रियों को टिकट का पैसा खुद चुकाना पड़ेगा और चीन पहुंचने के बाद इन सभी को 14 दिन क्वारंटीन में रखा जाएगा। बता दें कि फिलहाल इस बात की स्पष्टीकरण नहीं दी गई है कि यह उड़ाने कब और कहां से संचालित की जाएगी।

इस नोटिस में चीन के उन नागरिकों को वापस ले जाने से मना किया गया है जो अभी कोरोना वायरस से संक्रमित है या फिर जिनमें पिछले 14 दिन से बुखार और खांसी के लक्षण नजर आ रहे हैं। इसके अलावा कोरोना मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों और जिन यात्रियों का तापमान 37.3 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा होगा उनको भी चीन वापसी की इजाजत नहीं दी जाएगी। एजेंसी

पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, कई मवेशियों के मारे जाने की खबर

0

पुंछ।कोरोना  संकट के बीच पाकिस्तान की नापाक हरकतें जारी हैं। पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। मंगलवार को भी जम्मू-कश्मीर में सरहद पार से गोले दागे गए। लाइन ऑफ कंट्रोल पर पुंछ  जिले के बालाकोटे सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से मोर्टार दागे गए, जिसका भारतीय सेना ने माकूल जवाब दिया है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में LoC पर सीजफायर उल्लंघन की घटनाएं बढ़ी हैं।

बालाकोट सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की भारी गोलाबारी से कई मवेशियों के मारे जाने की खबर है साथ ही कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। पाकिस्तानी सेना ने सुबह 3 बजे बालाकोट सेक्टर में सैन्य और फौजी ठिकानों को निशाना बना कर हल्के और भारी हथियारों से गोलाबारी शुरू कर दी।

पाकिस्तानी सेना के दागे गए मोर्टार लोगो के घरों और खेतों में गिरने से आधी रात को लोगों में हड़कंप मच गया। इसके बाद सेना की मुंहतोड़ जवाबी कार्रवाई से पाकिस्तानी तोपें शांत हुईं। आधी रात को हुई इस नापाक हरकत से लोगों में दहशत का माहौल है। एजेंसी

Quarantine सेंटर में लगे ठुमके,video हुआ वायरल

0

नई दिल्ली। बलाघाट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा ये वीडियो कोरोना पॉजिटिव मरीजों का है जो मस्ती भरे अंदाज में डांस करते हुए दिख रहे हैं। ये तीनो मरीज मुंबई से हाल ही में लौटे हैं।

इस दौरान उन्होंने उन्हें सरदार पटेल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में बनाए गए कोविड केयर सेंटर में रखा गया है। कुछ लोगों का कहना है कि इन मरीजों का इस तरह से डांस करना क्वारंटाइन सेंटर में मिल रही सुविधा के कारण है।

कोरोना मरीजों के रहने के लिए बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में इस तरह से शोर मचाने और डांस करने की अनुमति नहीं है। लेकिन ये कोई पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले भी कई सारे क्वारंटीन सेंटरों में मरीज डांस करते हुए देखें गए हैं। एजेंसी

गलवान घाटी को चीन ने बताया अपना इलाका,भारत पर लगाए आरोप

0
फाइल फोटो

पेइचिंग। हाल के दिनों में उसने भारत से लगती लद्दाख सीमा पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं और वहां लगातार अपनी ताकत बढ़ रहा है। उसकी सेना ने गलवान घाटी में कई टेंट लगाए हैं और पैगोंग झील में अपनी गश्त बढ़ा दी है। लेकिन इसके लिए सीमा पर तनाव के लिए वह उल्टे भारत को ही जिम्मेदार ठहरा रहा है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि गलवान घाटी चीन का इलाका है और भारत जानबूझकर वहां विवाद पैदा कर रहा है। भारत गलवान घाटी में चीन के इलाके में अवैध तरीके से डिफेंस फैसिलिटीज का निर्माण कर रहा है। इस कारण चीन की सेना के पास इसका जवाब देने के अलावा कोई चारा नहीं है। इससे दोनों पक्षों के बीच सीमा पर विवाद बढ़ने की आशंका है।

अखबार का कहना है कि अमेरिका के साथ चीन के रिश्ते भले ही अभी ठीक नहीं चल रहे हैं लेकिन उसकी अंतरराष्ट्रीय स्थिति 1962 से बहुत बेहतर है जब भारत को चीन के हाथों करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी। तब दोनों की ताकत लगभग बराबर थी लेकिन आज चीन की जीडीपी भारत से 5 गुना है। उम्मीद है कि भारत सरकार, सेना, बुद्धिजीवी और मीडिया चीन के बारे में अपनी समझ बढ़ाएंगे।

भारत और चीन के बीच करीब 3,500 किमी लंबी लाइन है जिसे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) कहा जाता है। कई स्थानों दोनों पक्ष अपना-अपना दावा करते हैं जिससे कई बार हाथापाई की नौबत आ जाती है। इनमें से अधिकांश विवादों को स्थानीय स्तर पर ही सुलझा लिया जाता है।

ग्लोबल टाइम्स ने आरोप लगाया है कि गलवान घाटी का विवाद भारत की सोची समझी साजिश है। भारत इस बात को अच्छी तरह जानता है कि गलवान घाटी का इलाका चीन का है। लेकिन मई की शुरुआत से ही भारतीय सैनिक वहां चीनी इलाके में घुसपैठ कर रहा हैं। भारतीय सैनिक जानबूझकर चीन के सैनिकों से उलझ रहे हैं।

अखबार ने चेतावनी दी है कि अगर भारत ने जल्दी से जल्दी उकसावे की कार्रवाई बंद नहीं की तो इससे दोनों देशों के रिश्तों में खटास आ सकती है। यह विवाद डोकलाम से भी बड़ा हो सकता है। 2017 की गर्मियों में दोनों देशों की सेनाओं के बीच में डोकलाम में कई दिनों तक विवाद चला था। आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा के बाद डोकलाम में तनाव खत्म हुआ था। एजेंसी

यात्रियों के लिए खुशखबरी अब और आसान होगी चारधाम यात्रा, नितिन गडकरी ने दी बधाई

0

नई दिल्ली।  पीएम नरेंद्र मोदी  के ड्रीम प्रोजेक्ट चारधाम सड़क परियोजना को बड़ी सफलता मिली है। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने अति व्यस्त चंबा टाउन के नीचे हाईवे पर 440 मीटर लंबी सुरंग खोदने में सफलता हासिल की है। जिस पर सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने खुशी जताते हुए बीआरओ को बधाई दी है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2016 में इस परियोजना की शुरुआत की थी। कुल 11,700 करोड़ रुपए की इस परियोजना के जरिए सनातन धर्म के चारों धामों को सड़क से जोड़ा जाना है।

केंद्रीय मंत्री ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘यह घोषणा करते हुए खुशी है कि हमारी सीमा सड़क संगठन  टीम ने चारधाम परियोजना में एक बड़ी सफलता हासिल की है। ऋषिकेश-धरासू सड़क राजमार्ग (NH 94) पर व्यस्त चंबा टाउन के नीचे 440 मीटर लंबी सुरंग को उन्होंने सफलतापूर्वक खोदा है। ‘

उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा, ‘भविष्य में ट्रैफिक और चंबल शहर की दूरी को कम करने और इन क्षेत्रों में सड़कों के विकास से चारधाम यात्रा पर यत्रियों के आवागमन में आसानी होगी और इलाके में आर्थिक समृद्धि आएगी। मैं इस वैश्विक महामारी के बीच पूरे बीआरओ टीम को राष्ट्र निर्माण में उनके असाधारण पराक्रम के लिए बधाई देता हूं। एजेंसी’

क्यों अचानक से महाराष्ट्र सरकार पर मंडराने लगे संकट के बदल?

0

मुंबई। महाराष्ट्र कोरोना संक्रमितों की संख्या के मामले में देश में नंबर 1 बना हुआ है। इस बीच विपक्ष ने सरकार पर कोरोना से निपटने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए वहां की राजनीति गरमा दी है। इतना ही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने राज्यपाल से मुलाकात कर राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग भी कर दी है।

इस बीच आज सुबह शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट कर कहा कि सरकार पर किसी तरह का कोई संकट नहीं है। उन्होंने कहा कि कल शरद पवार और उद्धव ठाकरे के बीच मुलाकात भी हुई। दोनों नेताओं के बीच करीब डेढ़ घंटे तक मातोश्री में चर्चा हुई। अगर कोई सरकार की स्थिरता के बारे में खबरें फैला रहा है, तो इसे पेट का दर्द माना जाना चाहिए। सरकार मजबूत है। कोई चिंता नहीं। जय महाराष्ट्र।

पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता नारायण राणे ने राज्यपाल से मुलाकात कर कहा कि ये सरकार कुछ नहीं कर सकती, लोगों की जान नहीं बचा सकती है। सरकार फेल हो रही है। इस सरकार में कोरोना से सामना करने की क्षमता नहीं है। इसलिए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए। उन्होंने राज्य में सेना बुलाने की भी मांग की।

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में अब तक 52 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित, मुंबई 31970 मामले सामने आए। देश की आर्थिक राजधानी में कोरोना ने ली 1026 लोगों की जान। एजेंसी

एमएनएनआईटी का अमृत ऐप करेगा कोरोना मरीजों की पहचान

0

विकास श्रीवास्तव/ प्रयागराज। देश में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय बन गई है। 130 करोड़ की आबादी वाले हमारे देश में कोरोना मरीजों का टेस्ट करना किसी चुनौती से कम नहीं है। बहुत से लोगों को यह भी नहीं पता होता कि उन्हें सामान्य खांसी जुखाम की वजह कहीं कोरोना संक्रमण तो नहीं।

ऐसे लोग जाने अनजाने दूसरे लोगों को भी संक्रमित कर सकते हैं। जिससे सामुदायिक स्तर पर संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। देश का प्रतिष्ठित मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान प्रयागराज ने एक ऐसा मोबाइल ऐप बनाया है। जिसकी मदद से संदिग्ध कोरोना मरीजों की आसानी से पहचान की जा सकती है।

इस मोबाइल ऐप का उपयोग क्लीनिक, नर्सिंग होम या दवा की दुकानों पर किया जाएगा और सर्दी खांसी जुखाम या सांस की तकलीफ वाले मरीजों की सूचना सिर्फ एक क्लिक द्वारा कंट्रोल रूम में पहुंच जाएगी।

आवश्यकता पड़ने पर ऐसे मरीजों की कोरोना जांच की जा सकती है। इस ऐप का प्रयोग करने से कम समय और संसाधन में संदिग्ध कोरोना मरीजों तक पहुंचा जा सकता है।

डॉ आशुतोष, डॉक्टर अंबक कुमार, डॉक्टर समीर श्रीवास्तव, डॉ नंदकुमार सिंह, प्रोफेसर शिवेश शर्मा, मिस्टर विकल, मिस्टर हिमांशु, प्रोफेसर गीतिका प्रोफेसर राजीव त्रिपाठी ने इस ऐप के डिजाइन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

संस्थान की आईपीआर सेल के चेयरमैन प्रोफेसर गीतिका ने बताया कि ऐप के लिए आईपीआर फाइल कर दिया गया है। इस ऐप के माध्यम से स्वास्थ्य सेविका आशा को सर्वे करने में काफी सहूलियत मिलेगी।

इसमें डोर टू डोर होने वाले सर्वे की मानिटरिंग बहुत ही आसानी से की जा सकती है। संस्थान के निदेशक प्रोफेसर राजीव त्रिपाठी ने बताया है कि अमृत ऐप को उपयोग में लाने के लिए जिला प्रसाशन प्रयागराज से बात चल रही है।

लॉकडाउन में दूल्हा नहीं पहुंचा तो बारात लेकर ससुराल पहुंची दुल्हन

0

उत्तर प्रदेश। लॉकडाउन  में जहां एक और सामूहिक कार्यक्रम, सभा और जलसा पर रोक लगी है तो वहीं कुछ शर्तों के साथ शादी  में छूट भी दी गई है, मगर फिर भी कुछ साहस जुटा पाते हैं और कुछ नहीं। ऐसा ही एक मामला देखने को मिला उत्तर प्रदेश  के कानपुर  के चौबेपुर के मोहनपुर गांव में, जहां अनोखी शादी का नजारा देखने के लिए आसपास के गांव से लोग आए। यहां ग्राम प्रधान से शादी करने दुल्हन खुद परिवार संघ उसके घर पहुंच गई। मास्क लगाकर जोड़े ने फेरे लिए और एहतियात के तौर पर पूरे मोहल्ले का सैनिटाइजेशन किया गया।

लॉकडाउन क बीच हुई इस अनोखी शादी की चर्चा आस-पास के गांव में हो रही है। मोहनपुर गांव में पंचायत से प्रधान वीरेंद्र कुमार की शादी अलग ही ढंग से हुई। आम तौर पर दूल्हा बारात संग दुल्हन को लेने जाता है, मगर लॉकडॉउन के चलते प्रधान साहस नहीं जुटा पाया, जबकि बारात 2 किलोमीटर दूर ही जानी थी, मगर लॉकडाउन में कल्याणपुर के गोवा गार्डन निवासी दुल्हन कंचन सुबह ही अपने माता पिता गोपीचंद और कुछ चुनिंदा रिश्तेदारों के साथ विवाह संपन्न कराने दूल्हे के घर पहुंच गईं।

पहले से तय थी शादी
दुल्हन के पिता गोपीचंद ने बताया की शादी पूर्व ही तय हो चुकी थी। क्योंकि लॉक डाउन के दौरान तमाम बंदिशें । इसलिए नियम कानून का पालन करते हुए बड़ी सादगी से शादी की है। जब दुल्हन के पिता से पूछा गया कि आप लोग बारात लेकर क्यों पहुंचे तो उन्होंने बताया दूल्हा साहस नहीं जुटा पा रहा था बारात लाने के लिए और शायद संकोच भी कर रहा था। इसपर बेटी कंचन ने आग्रह किया कि हम लोग चलते हैं बारात लेकर और ऐसे शादी संपन्न हुई। एजेंसी

फिरोजाबाद: ईद की सुबह फरिहा में गौकशी का खुलासा

0
फरिहा में गौकशी का खुलासा
गांव ईखू में गौकशी की सूचना पर मौके पर पहुंचे जसराना विधायक रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी।

फरिहा (फिरोजाबाद)। ईद के मौके पर जनपद में सामाजिक सौहार्द नष्ट करने के उद्देश्य से फरिहा थाना क्षेत्र के गांव ईखू में दो गौवंश को अज्ञात लोगों ने काट दिया। घटना की सूचना पर पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे जसराना विधायक रामगोपाल लोधी की मौजूदगी में पुलिस ने गौवंश के अवशेषों को कब्जे में लिया। गांव के चौकीदार की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ गोवंश अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

फरिहा कस्बे से करीब 10 किलोमीटर दूर गांव ईखू में सुनारी बंबा के पास के खेतों में सोमवार को ग्रामीणों ने गौवंश के अवशेषों को देखा। गोवंश का सिर, पूछ, खाल एवं शरीर के अन्य भागों को देखकर प्रतीत हो रहा था कि वहां कई गोवंश काटे गए थे। गौकशी की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी।

जिसके बाद पुलिसकर्मी घटनास्थल का मौका मुआयना करने आए। करीब 3 घंटे बाद जसराना विधायक रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी और भारतीय जनता पार्टी के निवर्तमान जिला उपाध्यक्ष आर.डी. सिंह चौहान के नेतृत्व में अवधेश झा, क्षेत्रपाल लोधी, सतेंद्र भारद्वाज, सोनू झा गोहाना, जितेंद्र चौहान गौहाना, सुनील सिंह राजपूत, नीरज दिवाकर, शम्भू दिवाकर सहित आधा दर्जन से अधिक कार्यकर्ता घटनास्थल पर पहुंच गए। खेतों में जगह-जगह बिखरे हुए गोवंश के अवशेषों को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इकट्ठा किया।

मौके पर जसराना उपजिला अधिकारी चंद्रकुमार जाबालिया, पुलिस क्षेत्राधिकारी बलदेव सिंह खनेडा के साथ पहुंचे। पुलिस ने गोवंश के अवशेषों को कब्जे में लेकर सील कर दिया। विधायक ने प्रशासनिक अधिकारियों से गौकशी की घटना के संबंध में कड़ी कार्रवाई करने को कहा।चौकीदार महाराज सिंह की तहरीर पर गोवध अधिनियम के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

नौनिहालों को तमाम बीमारियों से बचाता है देसी गाय का दूध

0
मंडी समिति में गोवंश को हरा चारा खिलाते स्वयंसेवक

-गो सेवा अभियान के तहत सोशल मीडिया पर जानकारी दे कर रहे जागरूक

-गोवंश को हरा चारा खिलाने के लिए प्रतिदिन निकलती है स्वयंसेवकों की टोली

फिरोजाबाद। भारतीय संस्कृति मे गाय का बेहद अहम स्थान है। देसी नस्ल की गाय का दूध सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है।
गाय का दूध बच्चो के लिए बेहद पौष्टिक माना जाता है। बेसहारा गोवंश को हरा चारा खिलाने के लिए स्वयंसेवकों की टोली प्रतिदिन शहर में निकलती है।

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के प्रान्त गौ सेवा प्रमुख रामकांत उपाध्याय ने गो सेवा कार्यक्रम के दौरान गो सेवको से चर्चा करते हुए बताया कि गाय के दूध मे एटू बीटा प्रोटीन मिलता है। जो हृदय की बीमारी, मधुमेह, मानसिक रोग के खिलाफ सुरक्षा देने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

भारतीय नस्ल की गाय के शरीर में एक सूर्य ग्रंथि यानी सनग्लैंड पाई जाती है।इस ग्रंथि की यह खासियत होती है कि यह उसके दूध को बेहद गुणकारी व अमूल्य औषधि के रूप में बदल देती है। गाय के दूध में स्वर्ण तत्व होता है, जो शरीर के लिए काफी शक्तिदायक और आसानी से पचने वाला होता है। जिन शिशुओ को जन्म के बाद 15 दिन तक माँ दूध पिलाती है।

उनमे रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है। शाकाहारी व्यक्ति के लिए सूर्य के अतिरिक्त विटामिन डी का मात्र स्रोत गाय का दूध व उससे बने पदार्थ ही है। समाज के सहयोग से महानगर द्वारा चलाई जा रही गो सेवा के क्रम में मंडी समिति स्थल कोटला रोड पर भूखे गोवंश को चारा डालकर नगर में गो सेवा की गयी। प्रान्त कार्य कारिणी सदस्य अशोक शर्मा, सह महानगर कार्यवाह सौरभ शर्मा, महा नगर गो सेवा प्रमुख पवन तैनगुरिया,ब्रजेश शर्मा, राजेश पचौरी, शिवम शर्मा, राहुल, पवन, हेमंत, मोहन, ब्रजेश, सोनू, विष्णु, योगेश आदि स्वंयसेवक उपस्थित थे।

 

एक जून से UP में दौड़ेंगी रोडवेज बसें, नियमों का करना होगा पालन

0

उत्तर प्रदेश । अब प्रदेश में एक जून से रोडवेज  की बसें दौड़ेंगी। इसके लिए परिवहन विभाग ने कार्ययोजना भी बना ली है। खास बात यह है कि राज्य सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन्स के तहत ही बसों का परिचालन किया जाएगा। लॉकडाउन 4 की ड्रांस्पोर्टेशन संबंधित गाइडलाइन्स को पालन करने की जिम्मेदारी बस अड्डा  प्रभारी और ड्राइवर-कंडक्टर की होगी।

जानकारी के मुताबिक, पिछले 2 महीने से बंद पड़ी बसों को मरम्मत करने का कार्य किया जा रहा है। 30 मई तक इस कार्य का पूरा कर लिया जाएगा। यदि इस दौरान शासन द्वारा नई व्यवस्था नहीं लागू की गई तो एक जून से प्रदेश की सड़कों बसें दौड़ने लगेंगी। कानपुर रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक एसके शर्मा ने बताया कि प्रबंधन स्तर पर जैसे ही फरमान आएगा, संचालन शुरू करा दिया जाएगा।

मास्क पहनना अनिवार्य
कुछ खास नियम के साथ यात्रियों को रोडवेज की बसों से यात्रा करने की छुट दी गई है। रोडवेज के एक अफसर ने बताया कि बिना मास्क पहने किसी भी व्यक्ति को बस अड्डा परिसर में प्रवेश की अनुमित नहीं मिलेगी। साथ ही पूरे बस अड्डे को रोज सेनेटाइज किया जाएगा। वहीं, यात्रा के दौरान भी बस के अंदर सेनेटाइजर की बोतलें रखी रहेंगी। ये बोतलें बस में कंडक्टर सीट के सामने होंगी। खास बात यह है कि सेनेटाइज करने के बाद ही यात्रियों को बस में बैठाया जाएगा।

30 यात्री ही सफर कर पाएंगे
कहा जा रहा है कि बस की क्षमता के आधे ही यात्री सफर कर सकेंगे। यह संख्या बस की क्षमता पर तय होगी। सामान्तया 60 सीटर बस में 30 यात्री ही सफर कर पाएंगे। वहीं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। इसके लिए बस अड्डे के एक गेट से यात्रियों की इंट्री तो दूसरे से निकासी की व्यवस्था होगी। साथ ही रोडवेज अफसरों से कहा गया है कि यदि कहीं पर एक ही गेट है तो बीच में बेरीकेडिंग लगा आने-जाने का रास्ता अलग-अलग कर दिया जाए। एजेंसी

अयोध्या: भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए ‘रामलला’ को मिला करोड़ों रुपये का दान

0

अयोध्या।  उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस  से बचाव और लॉकडाउन  के बीच रामभक्त अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण के लिए अब तक 4.60 करोड़ रुपये दान कर चुके है। यह धनराशि राम मंदिर निर्माण के गठित राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के दो अलग-अलग खातों में जमा हुई है।

राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का कहना है कि पैसे की कमी के चलते राम मंदिर निर्माण में कोई बाधा ना उत्पन्न हो और भव्य और दिव्य गगनचुंबी राम मंदिर का निर्माण हो यही भक्तो की कामना है। इसीलिए वह दान दे रहे है। उन्होंने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए लगातार भक्त दान दे रहे हैं और इसके लिए मैं सभी दानदाताओं का धन्यवाद देता हूं।

बता दें कि ट्रस्ट के सदस्यों ने दान के लिए नेट बैंक‍िंग की शुरुआत की थी। इसके बाद इस खाते में लोगों ने ई बैंक‍िंग के जरिए दान देना शुरू किया था। मात्र चंद दिन में ही लाखों रुपये जमा हो गए थे। अधिकतर राम भक्त मंदिर निर्माण के लिए दी जाने वाली रकम ऑनलाइन जमा कर रहे हैं। कुछ रकम डिजिटल मोड में यूपीआई प्रणाली से स्थानांतरित की गई है। नेट बैंक‍िंग, आरटीजीएस टूल का प्रयोग भी धनराशि भेजने में किया जा रहा है। अब तक देश के कोने-कोने से तकरीबन 5 हजार लोगों ने ट्रस्ट के खाते में पैसा स्थानांतरित किया है।

दरअसल, भारतीय स्टेट बैंक में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का दान खाता खोल दिया गया था। ट्रस्ट के महामंत्री के मुताबिक रामनवमी के दिन हमने उन खातों को ओपन किया गया था। उन्होंने बताया कि रामभक्त सेविंग खाता संख्या 39161495808 और करेंट खाता संख्या 39161498809 में अपने मन मुताबिक दान कर सकते हैं। एजेंसी

शौचालय निर्माण में 16 पंचायत सचिवों से स्पष्टीकरण तलब

0

फिरोजाबाद। जनपद की 16 ग्राम पंचायतों में शौचालय निर्माण कार्य बंद होने को लेकर सीडीओ ने सख्त नाराजगी जताई है। जिसके पश्चात डीपीआरओ ने संबंधित पंचायत सचिवों को कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। एक सप्ताह में काम शुरू न होने पर निलंबन की कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

जिला पंचायत राज अधिकारी नीरज कुमार सिन्हा ने बताया कि अरांव ब्लाक की ग्राम पंचायत पिड़सरा, हाथवंत ब्लाक की ग्राम पंचायत फरीदा बरौली, बलीपुर तपस्या,रखाबली, साखिनी,नारखी ब्लॉक की ग्राम पंचायत ओखरा, भीकनपुर मेघपुर,शिकोहाबाद ब्लाक की ग्राम पंचायत हरिया,आरोंज, नगला उमर,जहांगीरपुर गैलरई, नगला बाजदार, बदनपुर करखा, बेरई, रजोपुरा एवं टूंडला ब्लॉक की ग्राम पंचायत बसई में शौचालय निर्माण कार्य बंद होने पर मुख्य विकास अधिकारी ने सख्त नाराजगी व्यक्त की है। डीपीआरओ ने पंचायत सचिवों को चेतावनी दी है,कि यदि एक सप्ताह में कार्य शुरू नहीं हुआ तो उनके खिलाफ निलंबन की कार्यवाही की जाएगी।

शिक्षक समाज का मार्गदर्शक बने न कि उपदेशक

0

फिरोजाबाद। अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के सह संगठन मंत्री ओमपाल सिंह ने आगरा मंडल की ऑनलाइन बैठक में कहा कि शिक्षक समाज का मार्गदर्शक बने न कि उपदेशक।उन्होंने राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के शिक्षक प्रतिनिधियों का मार्गदर्शन करते हुए कोविड-19 महामारी से उत्पन्न विपरीत स्थितियों को ध्यान रखते हुए कहा कि गांव को केंद्र मानकर ही कार्य करने में सभी का कल्याण है।

हम सभी प्रयास करें कि जो प्रवासी मजदूर गांव लौटकर आ रहे हैं, उनका मन ठीक रहे। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ऐसे प्रवासी मजदूरों को गांव में कार्य करने के लिए प्रेरित करे और विद्यालयों आदि में अधिकतम कार्य करने का अवसर प्रदान करें। उन्होंने शिक्षकों से संस्कारित परिवार विकसित करने का आवाहन किया।

राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के कारण हम सभी की जिम्मेदारी बढ़ी है।द्वितीय सत्र में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, उप्र (प्राथमिक संवर्ग) के प्रदेश महामंत्री भगवती सिह ने मंडल के सभी चारों जनपदों फिरोजाबाद,मथुरा, आगरा और मैनपुरी की गतवर्ष की वार्षिक सदस्यता की समीक्षा करते हुए वर्तमान सत्र की वार्षिक सदस्यता एवं पत्रिका सदस्यता के नवीन लक्ष्य निर्धारित किये।

बैठक में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष निर्मला यादव,वरिष्ठ उपाध्यक्ष देवी सिंह नरवार, संयुक्त महामंत्री डा कमल कौशिक, उच्च शिक्षा संवर्ग प्रदेश महामंत्री प्रो लवकुश मिश्रा, प्राथमिक संवर्ग के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद तिवारी,
मंडल अध्यक्ष रमेश यादव मंडल महामंत्री एवं जिला अध्यक्ष फिरोजाबाद सोनल शर्मा, मंडल संगठन मंत्री सुभाष यादव मंडल उपाध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा फिरोजाबाद जिले से कार्यकारी अध्यक्ष अबोध कुमार,जिला महामंत्री नरेश बाबू,जिला अध्यक्ष मैनपुरी कमल भदौरिया, शिवराज सिंह,मथुरा जिलाध्यक्ष मुकेश शर्मा, जिला महामंत्री अंजना शर्मा, एवं जिला मंत्री सत्यप्रकाश शर्मा, जनपद आगरा से मनोज परिहारतिलक पाल सिंह अभय यादव प्रमुख़ रूप से उपस्थित रहे।

भारत दे रहा चीन को ये करारा जवाब

0

नई दिल्‍ली। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास पैंगोंग सो झील और गलवान घाटी में चीनी सेना तेजी से अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रही है और इसके जरिये यह संदेश देने की कोशिश कर रही है कि वह भारतीय सेना के साथ टकराव की स्थिति शीघ्र समाप्त करने के लिए तैयार नहीं है। ऐसे में भारत भी चीन को करारा जवाब दे रहा है।

सैन्य सूत्रों ने कहा कि पैंगोंग सो झील और गलवान घाटी में भारतीय सेना चीनी सेना के मुकाबले में कहीं ज्यादा बेहतर स्थिति में है। पूर्वी लद्दाख में पांच मई की शाम को लगभग 250 भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद स्थिति खराब हो गई थी। इस हिंसा में सौ भारतीय और चीनी सैनिक घायल हो गए थे।उत्तरी सिक्किम में नौ मई को इसी प्रकार की घटना घटी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन को करारा जवाब देने के लिए भारत ने भी लद्दाख में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर सैनिकों की संख्‍या बढ़ा दी है। साथ ही निगरानी और गश्‍ती भी कड़ी कर दी है। भारत ने कहा था कि चीनी सेना भारतीय सैनिकों की सामान्य गश्त में बाधा उत्पन्न कर रही है और भारत ने सीमा प्रबंधन को लेकर हमेशा दायित्वपूर्ण रवैया अपनाया है।

सूत्रों ने बताया कि पूर्वी लद्दाख के विभिन्न इलाकों में कई बार चीनी सैनिकों द्वारा सीमा पार करने की खबर है और दोनों सेनाओं के बीच कम से कम दो मौकों पर हाथापाई हुई। सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना भी पेंगोंग त्सो झील,गलवान घाटी और देमचौक में अपनी ताकत बढ़ा रही है।उन्होंने बताया कि भारतीय सेना देमचौक और दौलत बेग ओल्डी सहित कई संवेदनशील इलाकों में आक्रामक तरीके से गश्त भी कर रही है।

बताया जा रहा है कि चीनी पक्ष ने विशेष रूप से गलवान घाटी में अपनी उपस्थिति बढ़ाई है और गत दो सप्ताह में लगभग सौ टेंट लगाए हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना की कड़ी आपत्ति के बावजूद चीन क्षेत्र में बंकर बनाने के लिए आवश्यक मशीनें ला रहा है।

बढ़ते हुए तनाव के बीच भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने लेह स्थित 14वीं कोर के मुख्यालय का शुक्रवार को दौरा किया और सेना के उच्च अधिकारियों के साथ एलएसी के पास क्षेत्र में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की।एजेंसी

 

मारपीट,विवाद के मामले में रिपोर्ट दर्ज

0

फिरोजाबाद। थाना रसूलपुर के ओमनगर में हुये विवाद के मामले में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही की है।

थाना रसूलपुर क्षेत्र के ओमनगर निवासी विशाल 21 मई को अपने घर के बाहर लूड़ों खेल रहा था। आरोप है कि तभी संतोष राठौर,श्रीदयाल राठौर,रामदेव राठौर,मनीष राठौर,सुनील राठौर,बाबी राठौर अपने अन्य साथियों के साथ आये और गाली गलौज करते हुये मारपीट कर दी।

इस मारपीट में विशाल की बहिन सीमा को चोट आयी। पीडि़त ने थाने में तहरीर दी। पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की है।

MOST POPULAR

HOT NEWS