पत्नी को नोटिस मिलने पर संजय राउत बोले,आ देखें जरा किसमें कितना है दम, जमकर रखना कदम मेरे साथिया

नई दिल्ली। पीएमसी बैंक घोटाला मामले में पत्नी वर्षा राउत को प्रवर्तन निदेशालय (ED) का समन मिलने के बाद से ही शिवसेना नेता संजय राउत  के तेवर और तल्ख हो गए हैं। पत्नी को नोटिस मिलने पर राउत लगातार बीजेपी (BJP) पर हमला बोल रहे हैं और इसे बदले की कार्रवाई बता रहे हैं।

इस बार शिवसेना सांसद संजय राउत ने शायराना अंदाज में ट्वीट कर कहा, ‘तुम लाख कोशिश करलो मुझे बदनाम करने की मैं जब भी बिखरा हूं दुगनी रफ्तार से निखरा हूं…’ इतना ही नहीं समन भेजने पर राउत ने कहा कि बस बीजेपी विरोधी नेताओं को नोटिस भेजा जा रहा है।

इससे पहले संजय राउत ने ट्वीट कर एक गाने की दो लाइनें लिखते हुए निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था ,’आ देखें जरा किसमें कितना है दम, जमकर रखना कदम मेरे साथिया’।

शिवसेना सांसद ने कहा, ‘इस देश में, भाजपा में ऐसे बड़े-बड़े सूरमा बैठे हैं, अगर मैं उनके परिवार तक पहुंचा तो आपको देश छोड़कर भागना पड़ेगा।’ राउत ने कहा, ‘पिछले एक साल में शरद पवार, एकनाथ खड़से और प्रताप सरनाइक को नोटिस दिए गए। अब आप सभी मेरे नाम की चर्चा कर रहे हैं। हम देख रहे हैं कि वो सभी लोग जिनकी महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की सरकार बनवाने में भूमिका रही है, उनको परेशान किया जा रहा है।’

उन्होंने कहा, ‘ये सब कागजात के टुकड़े हैं, इसके अलावा और कुछ भी नहीं है।’ संजय राउत ने कहा, ‘घर की महिलाओं को निशाना बनाना कायरता का काम है। हम किसी से डरे नहीं हैं और उसी के हिसाब से जवाब दिया जाएगा। ईडी को कुछ पेपर्स की जरूरत है और हमने समय पर जमा करा दिया है।

पत्नी वर्षा को मिले ईडी के नोटिस पर संजय राउत ने कहा, ‘ये सब राजनीति से प्रेरित है, 10 साल पुराना एक केस ईडी ने निकाला है, हम मिडिल क्लास लोग हैं। मेरी पत्नी एक शिक्षिका हैं उसने अपने दोस्त से 10 साल पहले 50 लाख का कर्जा लिया था, इसमें ईडी और भाजपा को क्या तकलीफ है?’ उन्होंने कहा, ‘मेरे पास एक साल से बीजेपी के परिवार से कुछ लोग आ रहे हैं, वो बार-बार मुझे ये कहने की कोशिश करते हैं कि ये सरकार हम किसी भी हालत में गिराने वाले हैं, हमारे पास केंद्र की सत्ता है, ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स है।’

संजय राउत ने कहा, ‘मुझसे पंगा मत लेना मैं नंगा आदमी हूं, शिवसैनिक हूं। मेरे पास भाजपा की फाइल है, अगर उसे निकाला तो आपको देश छोड़कर भागना पड़ेगा। मेरे पास 121 लोगों के नाम हैं, जल्द ही ईडी को दूंगा। इतने नाम हैं कि 5 साल ईडी को काम करना पड़ेगा। तब ईडी को पता चलेगा कि किससे पंगा लिया है।’

ईडी ने शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को पीएमसी बैंक धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए 29 दिसम्बर को तलब किया है। यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी। वर्षा राउत को मुंबई में केंद्रीय एजेंसी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है।

यह उनको पेश होने के लिए जारी तीसरा समन है, इससे पहले वह दो बार स्वास्थ्य आधार पर एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हुई हैं। पूछताछ के लिए उन्हें समन धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत जारी किया गया है।

क्या है मामला?
आधिकारिक सूत्रों ने दावा किया कि ईडी वर्षा राउत से उस राशि की ‘रसीद’ के बारे में पूछताछ करना चाहता है जिसका कथित तौर पर बैंक से गबन किया गया था। ईडी ने पिछले साल अक्टूबर में पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक में कथित ऋण धोखाधड़ी की जांच के लिए हाउजिंग डेवलपमेंट इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल), उसके प्रमोटर राकेश कुमार वधावन और उनके बेटे सारंग वधावन, उसके पूर्व अध्यक्ष वी. सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस के खिलाफ पीएमएलए के एक मामला दर्ज किया था। एजेंसी