कोरोनिल पर अब कोई विवाद नहीं, ड्रग माफिया, MNC माफिया सब बेनकाब होंगे, मेरे खिलाफ दुष्प्रचार: रामदेव

नई दिल्ली। पतंजलि की दवा ‘कोरोनिल’ पर हुए विवाद के बाद अब बुधवार को योग गुरु बाबा रामदेव प्रेस कॉन्फ्रेंस की। रामदेव ने कहा, ‘अभी तो हमने एक कोरोना के बारे में क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल का डाटा देश के सामने रखा तो एक तूफान सा उठ गया। उन ड्रग माफिया, मल्टीनेशनल कंपनी माफिया, भारतीय और भारतीयता विरोधी ताकतों की जड़ें हिल गईं।’

रामदवे ने कहा, “ऐसा लगता है कि हिन्दुस्तान के अंदर योग आयुर्वेद का काम करना एक गुनाह है। सैकड़ों जगह एफआईआर दर्ज हो गईं, जैसे किसी देशद्रोही और आतंकवादी के खिलाफ दर्ज होती हैं।

हमने कोरोना की दवा पर अच्छी पहल की है। लेकिन लोग हमें गाली दे रहे हैं। आप हमें गाली दो। लेकिन कम से कम उन लोगों के साथ हमदर्दी रखो, जो कोरोना वायरस से पीड़ित हैं और जिन लाखों-करोड़ों बीमार लोगों का पतंजलि ने इलाज किया है।”

भारत में आयुर्वेद ड्रग के रूप में मान्यता है, जबकि दूसरे देशों में तो इन्हें फूड सप्लीमेंट को तौर पर स्वीकार किया जाता है। हम आयुर्वेद को एवीडेंस बेस मेडिसन बनाएंगे, जैसा कि प्रधानमंत्री ने कहा था।

हमने अस्थमा को क्योर कर दिया है। आयुर्वेद में बीमारी को जड़ से खत्म किया जाता है। ऐसा माना जा रहा है कि रोगमुक्त और नशामुक्त भारत बनाना गुनाह है। आयुष मंत्रालय ने दवा को लेकर कोविड मैनेजमेंट की बात कही है, ट्रीटमेंट की नहीं।

योग के द्वारा लाखों लोगों का वीपी और अस्थमा ठीक हो गया। हमें जेल में डाल दो, हमें देशद्रोही कहो, आतंकवादी कहो हमें कोई फर्क नहीं पड़ता।
-रामदेव ने कहा कि हमने सभी नियमों का पालन किया।
-बाबा रामदेव ने कहा- कोरोना पर क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल किया।
-भारत, भारत विरोधी और स्वदेशी विरोधी ताकतों की जड़ें हिल गए हैं।
-बाबा ने कहा कि पतंजलि का विरोध एक नई तरह की घृणा और सोच है।
-हमने दवाई बनाने का उत्तराखंड सरकार से लाइसेंस (ड्रग लाइसेंस) लिया है।
-क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल का प्रोटोकॉल आयुर्वेद की परंपरा के अनुसार किया।
-दवा पर काम अब और आगे बढ़ेगा।
-दवा में अश्वगंधा, गिलोय और तुलसी का मिश्रण है।
-आयुष मंत्रालय ने कहा कि पतंजलि ने कोरोनावायरस की दवा पर अच्छी पहल की है। आयुष मंत्रालय का जवाब आया है।
-हमने दवाई से जुड़े पूरा डाटा आयुष मंत्रालय को दे दिया है।
-आचार्य बालकृष्ण और रामदेव 35 साल से सेवा का काम कर रहे हैं।
-बाबा ने कहा- रामदेव और बालकृष्ण की निंदा खूब करो, लेकिन कोरोनावायरस संक्रमित लोगों के प्रति तो हमदर्दी रखो।
-सबने कहा पतंजलि ने यूटर्न ले लिया है।
-कोरोनिल दवा पर बाबा रामदेव की सफाई। हमारे खिलाफ गंदा वातावरण बनाने की कोशिश-रामदेव।
-हमारे के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।
-आयुर्वेद का काम करना गुनाह हो गया है। लोगों द्वारा कहा गया कि मैं जेल जाऊंगा। एजेंसी