अब दादा-नाना भी कर सकते हैं नौकरी के लिए आवेदन

अब दादा-नाना भी कर सकते हैं नौकरी के लिए आवेदन

सरकार आपकी बड़ी से बड़ी समस्याओं, चिंताओं को समझने लगे तो आपका मनोबल सातवें आसमान पर होगा और जब बात ढलती उम्र की हो तो सरकार के इस संबल से आपको छड़ी की भी शायद जरूरत न पड़े और आप अपने मजबूत इरादों से उठ खड़े हों…जी हां, केंद्र सरकार ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक ऐसी पहल की है,जो न सिर्फ उनकी बढ़ती उम्र का सहारा होगा,बल्कि उन्हें सम्मान के साथ जीने का हक भी देगी…

अब सीनियर सिटिजन भी नौकरी के लिए कर सकते हैं आवेदन

दरअसल, केंद्र सरकार काम के अवसर तलाशने वाले वरिष्ठ नागरिकों को 1 अक्टूबर से अपनी तरह के पहले समर्पित रोजगार कार्यालय में पंजीकरण कराने की सुविधा उपलब्ध कराएगा। इसके तहत सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय 60 वर्ष से अधिक आयु वालों को सीनियर एबल सिटिजन फॉर री-एम्प्लॉयमेंट इन डिग्निटी (SACRED) वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर नौकरी खोजने में सक्षम बनाएगा।

SACRED पोर्टल पर पंजीकरण

SACRED पोर्टल में वरिष्ठ नागरिकों के लिए रिटेनिंग और री-स्किलिंग विकल्प शामिल हो सकते हैं, ताकि आवश्यकता पड़ने पर उन्हें गति प्रदान की जा सके। इसी के साथ अंतर-मंत्रालयी समिति की बैठकों में, यह निर्णय लिया गया कि सशस्त्र बलों के सेवानिवृत्त कर्मियों, भारतीय रिजर्व बैंक, राज्य के स्वामित्व वाले बैंकों,सेवानिवृत्त पूर्व राज्य और केंद्र सरकार के कर्मचारियों को तैनात नौकरियों के लिए लगाया जा सकता है।

वरिष्ठ नागरिकों और रोजगार प्रदाताओं को एक मंच पर लाने के लिए एक IT पोर्टल किया जाएगा विकसित

इसके लिए चुनौती ये होगी कि पूरे देश में वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक ऐसे समाज का निर्माण करने के उपायों के बारे में सोचा जाएगा, जिसमें वे स्वस्थ, सुखी, सशक्त, सम्मानजनक और आत्मनिर्भर जीवन व्यतीत कर सकें, साथ ही समाज में शामिल होकर मजबूत सामाजिक और अंतर-पीढ़ीगत संबंध स्थापित किया जा सके,विशेष रूप से वृद्धजनों को रोजगार का अवसर प्रदान करने के लिए निम्नलिखित हितधारकों को शामिल करके: –

– निजी फर्में और कॉर्पोरेट्स
– शिक्षण संस्थान
– कंसल्टेंसी सेवाओं के लिए सरकारी क्षेत्र और स्थानीय निकाय
– गैर-लाभकारी, गैर-सरकारी संघ, समाज/ट्रस्ट आदि
– मीडिया और बड़े पैमाने पर जनता को शामिल करके।

वरिष्ठ नागरिकों की आबादी में लगातार बढ़ोतरी

भारत में वरिष्ठ नागरिकों की आबादी में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। वरिष्ठ नागरिकों की संख्या 1951 में 1.98 करोड़ से बढ़कर 2001 में 7.6 करोड़ और 2011 में 10.38 करोड़ हो चुकी है।पिछले कुछ वर्षों में स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं में सामान्य रूप से सुधार होना वरिष्ठ नागरिकों की जनसंख्या के अनुपात में निरंतर बढ़ोतरी का एक मुख्य कारण है लेकिन सुनिश्चित करना कि वे केवल लंबे समय तक जीवित न रहें, बल्कि एक सुरक्षित, सम्मानजनक और उपयोगी जीवन व्यतीत करें, एक बड़ी चुनौती है। इसी दिशा में सरकार ने यह सार्थक पहल की है।

50 प्रतिशत से ज्यादा वरिष्ठ नागरिक सक्रिय

”लान्जिटूडनल एजिंग स्टडीज ऑफ इंडिया” (एलएएसआई) की रिपोर्ट, 2020 के अनुसार 50 प्रतिशत से ज्यादा वरिष्ठ नागरिक सक्रिय रहते हैं। कई वरिष्ठ नागरिक जिनके पास अनुभव, समय और ऊर्जा है, उनका उपयोग व्यापारिक उद्यमों द्वारा किया जा सकता है, जो अनुभव के साथ स्थिर कर्मचारियों की तलाश करते हैं। कई निजी उद्यमों के मानव संसाधन विभाग कुछ पदों पर अनुभवी लेकिन स्थिर कर्मचारियों की तलाश करते हैं। यह पोर्टल इन लोगों को वरीयताओं के वर्चुअल मैचिंग के माध्यम से एक साथ लाने की अनुमति प्रदान करता है।

पोर्टल का विषय-क्षेत्र

– रोजगार की चाहत रखने वाले वरिष्ठ नागरिकों और रोजगार प्रदाताओं को एक मंच पर लाने के लिए एक आईटी पोर्टल विकसित किया जाएगा और एक पारदर्शी प्रक्रिया के माध्यम से चुनी गई एजेंसी द्वारा इसका विकास और रखरखाव किया जाएगा।

– एक वरिष्ठ नागरिक अपनी शिक्षा, अनुभव, कौशल और रुचि वाले क्षेत्रों के साथ पोर्टल पर अपने आप को पंजीकृत करा सकता है। व्यक्ति अपेक्षित कार्यों के बारे में कीवर्ड का भी चयन कर सकता है, जिससे नौकरी प्रदाता उन्हें स्वतः ढूंढ सकेंगे। इस विवरण को वरिष्ठ नागरिकों द्वारा अपडेट भी किया जा सकता है।

– कोई भी रोजगार प्रदाता- व्यक्तिगत,फर्म,कंपनी,साझेदार,स्वैच्छिक संगठन इत्यादि भी पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। नौकरी प्रदाता इसमें शामिल होने वाले कार्यों और वरिष्ठ नागरिकों की संख्या को निर्दिष्ट करेंगे, जो उनका कार्य पूरा करने के लिए आवश्यक हैं।

– वरिष्ठ नागरिकों को नौकरियों के लिए आवेदन करने में स्वैच्छिक संगठन सहायता प्रदान करेंगे। किसी भी स्वैच्छिक संगठन द्वारा किसी भी वरिष्ठ नागरिक से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसलिए, रोजगार पोर्टल न केवल रोजगार की चाहत रखने वाले वरिष्ठ नागरिकों की, बल्कि नियोक्ताओं,स्वयं सहायता समूहों, कौशल प्राप्त करने वाले वरिष्ठ नागरिकों और अन्य
एजेंसियों और व्यक्तियों की भी सेवा करेगा।

– रोजगार कार्यालय पोर्टल नौकरी व रोजगार प्राप्त करने या स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों को बेचने या किसी अन्य गतिविधि के लिए किसी प्रकार की गारंटी प्रदान नहीं करेगा। यह एक संवादात्मक मंच के रूप में काम करेगा, जहां पर हितधारक एक-दूसरे से वर्चुअल रूप से मिलते हैं और आपसी सम्मान, सहमति और समझ के साथ आगे के कार्य के बारे में निर्णय लेते हैं।

– कोई भी व्यक्ति, फर्म, कंपनी, एजेंसी उन संबंधित कार्यों के लिए वरिष्ठ नागरिकों की सेवाएं प्राप्त करेगा, जहां पर स्वाभाविक रूप से नए कर्मियों को काम पर रखने और उन्हें प्रशिक्षण प्रदान करने से ज्यादा अनुभव काम आ सकता है, जिसका उदाहरण अल्पकालिक रोजगार, किसी परियोजना के लिए अनुबंध, शिक्षण, परामर्श देने वाली नौकरी हो सकती है। Employer और कर्मचारी आपसी सहमति और सम्मान के आधार पर भी अल्पावधि से आगे भी अपनी साझेदारी का विस्तार कर सकते हैं।

Share