अब नवंबर तक मिलेगा मुफ्त राशन- प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छठी बार मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने गरीब कल्याण योजना की समयसीमा बढ़ाने की घोषणा की,वहीं अनलॉक-1 में कोरोना को लेकर बरती जा रही लापरवाही पर भी चिंता जताई। PM ने कहा,भारत में गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री कोई नियमों से ऊपर नहीं

आइए जानते हैं कि प्रधानमंत्री ने और क्या कहा…

-पूरे भारत के लिए एक राशन कार्ड की योजना का इंतजाम किया जा रहा है।
-ईमानदार करदाताओं की मदद से ही गरीबों तक यह मदद पहुंच पा रही है।
-आत्मनिर्भर भारत के लिए हम दिन रात एक करेंगे।
-लोकल के लिए हम वोकल होंगे। 130 करोड़ देशवासियों को संकल्प के साथ काम भी करना है,मिलकर आगे बढ़ना है।
-स्वस्थ रहिए, 2 गज की दूरी का पालन करते रहिए,गमछा या मास्क का हमेशा उपयोग कीजिए। कोई लापरवाही मत बरतिए।
-प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का विस्तार अब नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाएगा।
-80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना अब नवंबर तक लागू रहेगी।
-परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या 5 किलो चावल मुफ्त मुहैया कराया जाएगा।
-प्रत्येक परिवार को 1 किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा।
-80 करोड़ से ज्यादा लोगों को तीन महीने का राशन मुफ्त दिया गया।
-लॉकडाउन के समय जैसी सतर्कता दिखाने की जरूरत है।
-यूरोपीय यूनियन की आबादी से दोगुना लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त राशन दिया है।
-जुलाई से त्योहारों का सिलसिला शुरू हो जाएगा।

-कंटेनमेंट झोन को लेकर हमें बहुत ध्यान देना होगा। नियमों का पालन नहीं करने वालों को रोकना होगा।
-जो लोग नियमों को नहीं मान रहे हैं उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा।
-गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है।
-हमारी कोशिश रही कि देश में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए। हमने समय पर और संवेदनशीलता से फैसले लिए।
-यह बात सही है कि संख्‍या की दृष्टि से देखें तो तुलनात्मक रूप से भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्‍या काफी कम है।
-जब से अनलॉक 1 शुरू हुआ,तब से लोगों के बीच लापरवाही ज्यादा दिखाई दे रही है।
-पहले हम सफाई,सेनिटाइजेशन,मास्क को लेकर सतर्क थे,लेकिन अब इस मामले में लापरवाही दिखाई दे रही है,जो कि चिंताजनक है।
-नरेन्द्र मोदी ने कहा कोरोना से लड़ते-लड़ते हम अनलॉक-2 में प्रवेश कर रहे हैं।
-ऐसे मौसम में प्रवेश कर रहे हैं, जिस दौरान सर्दी, खांसी बढ़ जाती है।
-मेरी आपसे प्रार्थना है कि ऐसे समय में अपना ध्यान रखिए।

-गृहमंत्री अमित शाह की देशवासियों से अपील। प्रधानमंत्री का महत्वपूर्ण संदेश जरूर सुनें।

-देश में कोविड-19 के प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम यह छठा संबोधन।
-प्रधानमंत्री का यह संबोधन ऐसे समय हो रहा है,जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को 20 भारतीय सैन्यकर्मियों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है।
-यह संबोधन ऐसे समय भी हो रहा है जब देश कोविड-19 महामारी के रोज बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन में ढील के ‘अनलॉक-2’ में प्रवेश करने जा रहा है।एजेंसी