लापरवाही: आखिर कब तक बन पाएगा लेबर कॉलोनी ओवरब्रिज ? धीमी गति से हो रहा निमार्ण कार्य

-अबतक 50 फीसदी ही बन पाया हैं पुल, अफसर व नेताओं का कोई ध्यान नही
-जल्दी से बने ओवरब्रिज,कई दिक्कतें, लेबर कॉलोनीवासी आक्रोशित

फिरोजाबाद। लेबर कॉलोनी का फाटक नं0 63। आधे-अधूरें ओवरब्रिज पर निमार्ण कार्य अभी काफी धीमी गति से चल रहा हैं। साइट पर लाँकडाउन और उससे पूर्व कुछ महीनों से निमार्ण कार्य ठप्प पडा था। तीन साल होने को आए,मगर पुल का निर्माण कार्य सिर्फ 50 फीसदी की पूरा हो सका हैं। रेलवे ने अपने पिलर बना दिए हैं। किंन्तु सेतु निगम को ओवरब्रिज दिंसबर 2020 तक बनना हैं। लेकिन तैय समय सीमा के भीतर पुल बनना मुश्किल लग रहा हैं।

उ0प्र0सेतु निगम को लेबर कॉलोनी और रेलवे फाटक के ओर ओवरब्रिज का काफी निमार्ण कार्य करना हैं।दोनों ओर आधा-अधूरा निमार्ण कार्य हुआ हैं। अभी कुछ पिलर बनना बाकी हैं। बता दें कि सरकार ने सभी लंम्बित पुलों का निमार्ण कार्य अतिशीघ्र शुरू करायें जाने के निर्देश दिए हैं। लेबर कॉलोनी ओवरब्रिज निमार्ण में देरी होने से शहर में आने-जाने राहगीरों को कई दिक्कतें आ रही हैं। इस लेट-लतीफी से स्थानीय नागरिकों में काफी आक्रोश हैं। कॉलोनीवासियों की मांग हैं कि पुल का निमार्ण कार्य तेज गति से किया जाए।

जल्दी से बने ओवरब्रिज,कई दिक्कतें

लाइनपर के क्षेत्र लेबर कॉलोनी फाटक नं0 63 सार्वाधिक भीड़भाड वाला क्षेत्र हैं। दिल्ली से हावडा प्रतिदिन दर्जनों की संख्या में दर्जनों की संख्या में ट्रेनें दौड़ती हैं। इसके चलते अधिकाश समय रेलवे फाटक बन्द रहता हैं। लाइनपार के क्षेत्रों में निवास करने वाले सैकड़ों लोगों को फाटक पर प्रतिदिन घंटों इतजार करना पड़ता हैं। कुछ लोग रेलगाडी के सामने से होकर निकलते हैं। जिससे एक्सीडेन्ट होने की सम्भावना बनी रहती हैं। लाइनपार के क्षेत्रों-गावों में करीब डेढ़ लाख से ज्यादा की आबादी रहती हैं। यह क्षेत्र रेलवे फाटक की वजय ये शहर से अलग-थलग पड़ा हुआ हैं। ओवरब्रिज का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद यहां का विकास गति पकड़ेंगा। लेबर कॉलोनीवासी आशा लगाए बैठे हैं कि कब तक ओवरब्रिज बन कर तैयार होगा।