बीजापुर में अगवा किए गए कोबरा जवान राकेश्वर को नक्सलियों ने छोड़ा

बीजापुर में अगवा किए गए कोबरा जवान राकेश्वर को नक्सलियों ने छोड़ा

छत्तीसगढ़ ।  नक्सलियों ने सीआरपीएफ के कोबरा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास को आज रिहा कर दिया है। सुरक्षाबलों के साथ छत्तीसगढ़ के बीजापुर में 3 अप्रैल (शनिवार) को हुई मुठभेड़ के बाद नक्सलियों ने कोबरा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास को अगवा कर लिया था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कोबरा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास इस समय तर्रेम में 168 वीं बटालियन के कैंप में हैं। राकेश्वर सिंह मन्हास का वहां पर मेडिकल चेकअप किया जा रहा है।बता दें कि बीते शनिवार को बीजापुर के जोनागुड़ा में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 23 जवान शहीद हो गए थे। 30 जवान घायल हो गए थे।

जानकारी के अनुसार, नक्सलियों ने भी एक प्रेस रिलीज जारी कर अपने 5 साथियों के मारे जाने की बात स्वीकार की थी और सीआरपीएफ के कोबरा जवान राकेश्वर को अपने कब्जे में रखने की बात कही थी। परिजन लगा रहे थे रिहाई की गुहार इसके बाद से ही परिवार के सदस्य लगातार पीएम नरेंद्र मोदी समेत अन्य से उनकी रिहाई को लेकर गुहार लगा रहे थे।

राकेश्वर सिंह मनहास का पूरा परिवार और आस-पड़ोस के लोग उनकी सलामती की दुआ मांग रहे थे। जानकारी के मुताबिक राकेश्वर सिंह साल 2011 में सीआरपीएफ़ में भर्ती हुए थे। इससे पहले उनके पिता जगतार सिंह भी सीआरपीएफ़ में ही थे। रविवार दोपहर नक्सलियों के दक्षिण बस्तर डिवीजन ने दावा किया था कि जवान राकेश्वर सिंह मन्हास उनके पास हैं और पूरी तरह सुरक्षित हैं और उन्हें समय आने पर छोड़ दिया जाएगा।

Share