मुख्तार अंसारी की एंबुलेंस मामला: फरार आनंद यादव गिरफ्तार

मुख्तार अंसारी की एंबुलेंस मामला: फरार आनंद यादव गिरफ्तार

लखनऊ। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के जुड़े फर्जी एम्बुलेंस मामले में वांछित 25 हजार के इनामी आनंद यादव को पुलिस ने बुधवार को क्षेत्र के फैजाबाद रोड से गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में दो आरोपी अभी तक फरार चल रहे हैं।मामले में 3 आरोपी पहले से ही जेल जा चुके हैं जबकि फरार अन्य तीन आरोपियों आनंद यादव,मुजाहिद और शाहिद के खिलाफ पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था।बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि आनंद यादव को गिरफ्तार किया गया है।उसने इस मामले में और भी कई लोगों के शामिल होने का खुलासा किया है।फरार मुजाहिद और शाहिद के साथ जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी की जाएगी।

ये है पूरा मामला
आपको बता दें कि यह मामला उस समय का है, जब मुख्तार अंसारी पंजाब की रोपड़ जेल में बंद था। मुख्तार को एम्बुलेंस से मोहाली की कोर्ट में पेशी पर ले जाया गया था।उस समय इस एंबुलेंस के प्रयोग का खुलासा हुआ था।एम्बुलेंस पर यूपी के बाराबंकी की नंबर प्लेट लगी थी। मामले ने तूल पकड़ा तो जांच में जो तथ्य निकलकर सामने आये वह चौंकाने वाले थे। दरअसल फर्जी दस्तावेज के आधार पर बाराबंकी एआरटीओ में मुख्तार के गुर्गों ने 2013 में यह एंबुलेंस रजिस्टर्ड कराई थी। यह एंबुलेंस मुख्तार अपने निजी प्रयोग में ला रहा था।UP 41 AT 7171 रजिस्टर्ड नंबर की यह एंबुलेंस मुख्तार अंसारी शुरू से प्रयोग कर रहा था।

एफआईआर में ये हैं नामजद
इसके अलावा इस मामले में पुलिस को अभी भी इनामिया शाहिद और मुजाहिद की भी तलाश है। आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी के गुर्गे राजनाथ यादव,डॉ. अलका और शेषनाथ राय को पुलिस पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है।इसी मामले में एक अप्रैल को कोतवाली नगर में मऊ की संजीवनी हास्पिटल संचालिका डॉ.अलका राय के खिलाफ मुकदमा कराया।इसकी विवेचना में पुलिस ने मुख्तार अंसारी को भी इस मामले में साजिश और जालसाजी का आरोपी बनाया है।साथ ही अलका राय के सहयोगी डॉ.शेषनाथ राय,विधायक प्रतिनिधि मोहम्मद सुहैब मुजाहिद,शाहिद, आनंद यादव,राजनाथ यादव को नामजद किया था।

 

Share