प्रभारी मंत्री ने फिरोजाबाद में किया ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का उद्घाटन,1000 लीटर प्रति मिनट हैं क्षमता

प्रभारी मंत्री ने फिरोजाबाद में किया ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का उद्घाटन,1000 लीटर प्रति मिनट हैं क्षमता

फिरोजाबाद। जनपद के प्रभारी मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह ‘‘मोती सिंह‘‘द्वारा शुक्रवार को जनपद के लोगों को एक अनूठी सौगात दी गई। प्रभारी मंत्री के द्वारा जिले में ऑक्सीजन की उपलब्धता बनाए रखने के लिए स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय के सौ शैय्या वार्ड में स्थित आइसोलेशन वार्ड के निकट स्थापित 1000 लीटर प्रति मिनट क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण कर जनता को समर्पित किया। प्रभारी मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह व सांसद डॉ.चंद्रसेन जादौन ने ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का उद्घाटन फीता काटकर किया।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि इस प्लांट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना महामारी के काल में ऑक्सीजन संकट से निजात दिलाने के लिए इस ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट को फिरोजाबाद में बनवाया गया है। जिला प्रशासन,पीडब्ल्यूडी,कार्यदायी संस्था एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसकी स्थापना रिकॉर्ड समय में की गई हैं। मात्र 10 दिन में इसका इंस्टॉलेशन करा कर के इससे गैस का उत्पादन भी शुरू करा दिया गया है। अब जनपद में ऑक्सीजन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई में सभी की यह प्रतिबद्धता काबिले तारीफ हैं। हम सभी को इसी प्रतिबद्धता के साथ इस संकट की घड़ी में एक दूसरे के सहयोग से जागरूक रहकर कार्य करना है। सांसद राज्यसभा डॉ अनिल जैन द्वारा किचन के माध्यम से कोविड-19 पीड़ितों के घर भोजन उपलब्ध कराया जा रहा हैं। ट्रांसपेरेंट ओवरसीज के स्वामी मुकेश बंसल एवं उनके सहयोगियों द्वारा ऑक्सीजन कंस्ट्रक्टर भी उपलब्ध कराए गए हैं। समाजसेवी भी संकट काल में पूर्ण सहयोग प्रदान कर रहे हैं।

निरोक्षणोपरांत कोविड-19 महामारी में लोगों को दिए जा रहे उपचार एवं सुविधाओं के संबंध में एक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद के प्रभारी मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘‘मोती सिंह‘‘ की अध्यक्षता में आहूत की गई। बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश प्रदान करते हुए कहा कि निगरानी समितियों के माध्यम से नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर जांचें की जाए। सीएचसी व पीएचसी पर अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों के इलाज का भी बेहतर प्रबंध किया जाए,ताकि अस्पताल पर मरीजों का दबाव कम हो सकें। अति आवश्यक एवं गंभीर स्थिति में ही मरीजों को जिला चिकित्सालय आना पड़े। राज्यसभा सांसद डॉ अनिल जैन ने कहा कि हमें मानवीय दृष्टिकोण के आधार पर इस संकट काल में सभी को एक दूसरे का सहयोग अवश्य करना चाहिए। कोविड-19 महामारी पर काबू पाने के लिए कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर एवं वैक्सीनेशन कराया जाना नितांत आवश्यक है।

कोविड-19 की तीसरी लहर के दृष्टिगत यह एक महत्वपूर्ण अस्त्र है,हम अधिक से अधिक लोगों को मास्क लगाने एवं वैक्सीनेशन के प्रति जागरूक अवश्य करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा भेजे गये वरिष्ठ आईएएस एवं जनपद के नोडल अधिकारी रिग्जियान सैम्फिल द्वारा कोविड-19 के कार्यों का निरंतर पर्यवेक्षण कर बेहतर कार्य किया जा रहा है। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह एवं मुख्य विकास अधिकारी चर्चित गौड़ के निर्देशन में नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निगरानी समितियों के माध्यम से जांच कराकर संदिग्ध मरीजों को होम आइसोलेट कर मेडिकल किट उपलब्ध कराकर उनका बेहतर उपचार किया जा रहा हैै।बैठक के दौरान राज्यसभा सांसद डॉ.अनिल जैन,सांसद डॉ चंद्रसैन जादौन,महापौर नूतन राठौर,विधायक मनीष असीजा,टूंडला प्रेमपाल धनगर एवं डॉ मुकेश वर्मा शिकोहाबाद, जिलाध्यक्ष मानवेन्द्र प्रताप, महानगर अध्यक्ष राकेश शंखवार,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडेय, नगर आयुक्त विजय कुमार,अपर जिलाधिकारी आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव,नगर मजिस्ट्रेट गुलशन कुमार,उपजिलाधिकारी सदर राजेश कुमार,उपजिलाधिकारी टूंडला बुशरा बानो,उपजिलाधिकारी जसराना कुमार चंद्र जवालिया,प्राचार्या मेडिकल कॉलेज डॉ.संगीता अनेजा,जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एके दीक्षित आदि उपस्थित रहे।

 

Share