नम आंखों से सीआरपीएफ के जवान को दी अंतिम विदाई

समय भास्कर,शिकोहाबाद। सीआरपीएफ द्वारा अपनी इंसास राइफल से गोली मार कर आत्महत्या कर ली। शनिवार देर रात शव उसके घर पहुंचा तो कोहराम मच गया। रविवार सुबह आव गंगा शमशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रही।

नगर के गंगा नगर निवासी युवक दिलीप नक्सल प्रभावित लोहरदगा झारखंड के पेशरार थाना क्षेत्र के चैनपुर पिकेट पर तैनात था। यहां रहते हुए उसने किन्हीं कारणों के चलते अपनी इंसास रायफल से गोली मार कर आत्महत्या कर ली। पूरी रात शव उसके घर के बाहर रखा रहा। इस दौरान परिवार के लोगों ने काफी हंगामा किया। जानकारी होते ही थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी। मृतका की पत्नी और परिवार के लोग दिलीप द्वारा आत्महत्या करना नहीं मान रहे थे। उनका आरोप था कि दिलीप के साथ कोई घटना घटित हुई है।

परिवार के लोग उसे शहीद का दर्जा दिलाने की मांग को लेकर काफी देर तक हंगामा करते रहे। बाद में उन्हें समझा बुझा कर शांत किया। इस दौरान सीआरपीएफ के जवानों ने अंतिम विदाई दी। मुखाग्नि मृतक के दस वर्षीय बेटे तन्मय ने दी। बालक को पिता को मुखाग्नि देते देख वहां मौजूद लोगों की आंखें नम हो गयी। वहीं मृतक की पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल था। परिवार के लोगों ने इस मामले की जांच कराने की भी मांग की।

Share