मेहंदी का रंग कैसे गाढ़ा हो,जानिए 

किसी भी कार्यक्रम या त्योहार पर कार्यक्रम के लिए मेहंदी लगाते समय ध्यान रखें कि कार्यक्रम से एक या दो दिन पहले ही मेहंदी लगाएं,ताकि उसका रंग सही समय पर गहरा हो जाए।

मेहंदी लगाने से पहले हाथों को अच्छी तरह से साफ करें और नीलगिरी या मेहंदी का तेल जरूर लगाएं। यह तेल बाजार में आसानी से उपलब्ध होता है।

मेहंदी का रंग गहरा करने के लिए एक पारंपरिक और व्यवसायिक तरीका है,चूना। जी हां,बगैर पानी लगाए मेहंदी वाली हथेलियों पर चूना रगड़ने से भी मेहंदी का रंग गहरा होता है।

मेहंदी का रंग गाढ़ा करने के लिए एक बहुत अच्छा तरीका है,कि जब आप मेहंदी लगवाते हैं उसके बाद उसे हल्का सूखने दें और फिर किसी कंबल या रजाई से मेहंदी को ढंक दें। अगर रात के समय मेहंदी लग रही है,तो सबसे अच्छा तरीका है कि रजाई ओढ़कर सो जाएं। इससे गर्माहट मिलेगी और मेहंदी का रंग गहरा होगा।

अगर आप चाहते हैं कि मेहंदी अच्छी तरह से रचे,तो उसे सुखाने की जल्दी कभी न करें। जल्दी सूखने पर मेहंदी जल्दी निकलने भी लगेगी,और रंग भी नहीं चढ़ सकेगा। इसलिए उसे प्राकृतिक तरीके से सूखने दें।

मेंहदी को आप जितना अधि‍क समय हाथों में लगाए रख सकते हैं लगाएं,लेकिन कम से कम 5 घंटे तक मेहंदी उसी तरह लगी रहने दें। उसे निकालें नहीं।

मेहंदी जब हल्की-हल्की सूख जाए,तो उसे पर नींबू और शक्कर का मिश्रण लगाएं, ताकि वह सूखने के बाद निकले नहीं। इस मिश्रण का प्रयोग मेहंदी को अपने स्थान पर चिपकाए रखने के लिए होता है।

जब भी मेहंदी को अपने हाथ से निकालें,हाथों पर पानी न लगनें दें,अन्यथा मेहंदी का रंग गहरा होने की संभावना कम हो जाएगी।

मेहंदी का रंग हल्का होने पर आप इसपर बाम,आयोडेक्स,विक्स या सरसों का तेल लगा लें। यह सभी चीजें हथेली को गर्माहट देती हैं,जिससे मेहंदी का रंग धीरे-धीरे गहरा हो जाता है।

आप अगर चाहें तो मेहंदी वाले हाथों पर लौंग का धुंआ भी ले सकते हैं। शादियों में यह तरीका मेहंदी का गहरा करने के लिए अपनाया जाता है। इसके अलावा लोग मेहंदी पर अचार का तेल भी लगाते हैं।