क्या लॉकडाउन की ओर बढ़ रहे बिहार के कदम?

क्या लॉकडाउन की ओर बढ़ रहे बिहार के कदम?

कोरोना की भयावह हो रही स्थिति को देखते एक नीतीश कुमार सरकार संक्रमण को रोकने के लिए एक-एक कदम आगे बढ़ा रही है। बिहार सरकार के इन कदमों से लोगों को एक बार फिर से लॉकडाउन का डर सताने लगा है। बता दें कि अपने ताजा फैसले में सरकार ने जिम, स्पोट्स कॉम्पलेक्स और पुरातत्व और पर्यटन स्थल को 15 मई तक बंद रखने की घोषणा की है। इससे पहले सरकार ने इसी हफ्ते स्कूल-कॉलेज समेत तमाम निजी और सरकारी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने और बाजारों में दुकानें और व्यापारिक संस्थानों को 7 बजे तक बंद कर देने के आदेश जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें:  सोनू सूद हुए कोरोना पॉजिटिव

कला संस्कृति विभाग ने शुक्रवार को इसको लेकर तीन अलग-अलग आदेश जारी किया है। बिहार कला संस्कृति विभाग ने कोरोना के संक्रमण को रोकने एवं उससे बचाव के लिए लोकहित में सावधानी के तौर पर राज्य सरकार द्वारा सुरक्षित घोषित सभी स्मारक, पुरास्थल आमदर्शकों, आगंतुकों के परिभ्रमण के लिए बंद रखने का निर्णय लिया गया है। कला संस्कृति विभाग के छात्र एवं युवा कल्याण निदेशक डॉ. संजय सिन्हा द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू रहेगा। डॉ. सिन्हा ने विभागीय सचिव से अनुमोदन प्राप्त अपने दूसरे आदेश में कहा है कि सभी संग्रहालय (म्यूजियम) तत्काल प्रभाव से आम दर्शकों व आगंतुकों के लिए बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें:कोरोना संक्रमण: किसानों को दिल्ली की सीमाओं से हटाने की तैयारी में केंद्र सराकर

 छात्र एवं युवा कल्याण निदेशक द्वारा जारी एक और आदेश में शुक्रवार से तत्काल प्रभाव से राज्य में खेल गतिविधियों पर रोक लगा दी गयी है। आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस का प्रसार रोकने और संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए 15 मई तक राज्य स्थित सभी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, आउटडोर एवं इंडोर स्टेडियम, तरणताल, खेल मैदानों में खेलों के आयोजन, कार्यक्रमों तथा प्रशिक्षण एवं सभी जिमों के संचालन पर रोक लगाई जाती है।

Share