देश

टीका लगाने के बाद पीएम मोदी ने नर्स से बोली ये बात,जो आपके लिए जान न बेहद जरुरी

नई दिल्ली। आज1 मार्च से 60 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना की वैक्सीन दिए जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसमें सबसे पहली वैक्सीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी गई। आज से देश भर में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है। वैक्सीन लगवाने के बाद पीएम मोदी ने अपील की है कि इस चरण में चुने गए लोग वैक्सीन जरूर लगवाएं। पुडुचेरी की नर्स पी निवेदा ने पीएम मोदी को कोवैक्सीन की डोज लगाई है।

पीएम मोदी की वैक्सीन लगवाने की जो तस्वीर सामने आई है उसमें दो नर्स खड़ी नजर आ रही हैं. इसमें पीएम मोदी को वैक्सीन लगाने वाली नर्स पी निवेदा पुडुचेरी की रहने वाली हैं जबकि दूसरी रोसमम्मा अनिल केरल से हैं। देश में कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण सोमवार से शुरू हो रहा है. इसमें जिनकी उम्र 60 साल है उनके साथ-साथ 45 से 59 साल तक के उन लोगों को भी कोरोना टीका लगाया जाएगा जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं।

पीएम मोदी ने एम्स में कोविड का पहला डोज लिया. लोगों को कोई परेशानी न हो, इसलिए पीएम मोदी बिना रूट लगवाए सुबह-सुबह एम्स पहुंचे. टीका लगवाने के बाद प्रधानमंत्री आधे घंटे तक रुके और पूरे वैक्सीन प्रोटोकॉल को फॉलो किया।

कोरोना टीका के बारे में पहले ही बताया जा चुका है कि सरकारी हॉस्पिटल में यह फ्री और प्राइवेट हॉस्पिटल में 250 रुपये (प्रति डोज) लिए जाएंगे. कोरोना टीके की दो खुराक लेनी होती हैं। यानी प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना टीका लगवाने पर 500 रुपये खर्च होंगे।

कोरोना टीका के बारे में पहले ही बताया जा चुका है कि सरकारी हॉस्पिटल में यह फ्री और प्राइवेट हॉस्पिटल में 250 रुपये (प्रति डोज) लिए जाएंगे। कोरोना टीके की दो खुराक लेनी होती हैं। यानी प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना टीका लगवाने पर 500 रुपये खर्च होंगे।

निर्धारित कैटगरी के लोग अपने घर के पास के सेंटर पर वैक्सिनेशन अपॉइंटमेंट ले सकेंगे. फिलहाल 12 हजार सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में ही वैक्सीनेशन हो रहा है. इसके अलावा आयुष्मान भारत एम्पैनल्ड अस्पतालों या CGHS हॉस्पिटल्स भी शामिल होंगे। इनकी संख्या भी करीब 12,000 हैं। यानी कुल 24 हजार केंद्रों पर वैक्सिनेशन होगा।

Related Articles

Back to top button