लाहौर में सिखों के ऐतिहासिक गुरुद्वारे को मस्जिद में बदलने की कोशिश,भारत ने किया विरोध

पाकिस्तान। लाहौर में सिखों के ऐतिहासिक गुरुद्वारे को मस्जिद में बदलने की कोशिश सामने आने के बाद भारत ने इस पर अपना कड़ा विरोध दर्ज करवाया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने जानकारी दी है कि भारत ने इस मामले पर पाकिस्तान से शिकायत की है और कड़ा विरोध दर्ज कराया है। साथ ही जल्द से जल्द सख्त कदम उठाने की माँग की गई है।

श्रीवास्तव ने बताया, “लाहौर के नौलखा बाजार में भाई तारू सिंह जी की शहीदी स्थल पर मस्जिद शहीद गंज के नाम दावा किए जाने की घटना पर पाकिस्तान के उच्चायोग में सोमवार को कड़ा विरोध दर्ज कराया गया है। इसे मस्जिद बनाए जाने की कोशिश की जा रही है।”

श्रीवास्तव ने इस दौरान एक सवाल के जवाब में कहा, “पाकिस्तान से यह भी कहा गया है कि वह अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की सुरक्षा, हितों के साथ ही उनके धार्मिक अधिकारों और सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण करे।”

उन्होंने कहा कि गुरुद्वारा शहीदी स्थान भाई तारु जी एक ऐतिहासिक गुरुद्वारा है, जहाँ भाई तारु जी ने 1745 में सर्वोच्च बलिदान दिया था। उन्होंने कहा, “गुरुद्वारा श्रद्धा का स्थान है और इसे सिख समुदाय द्वारा पवित्र माना जाता है। इस घटना को भारत में गंभीर चिंता के साथ देखा गया है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सिख समुदाय के लिए न्याय की माँग की जा रही है। एजेंसी