नेपाल को भारत ने निर्यात की 24 मीट्रिक टन मूंगफली

 नेपाल को भारत ने निर्यात की 24 मीट्रिक टन मूंगफली

दिल्ली।पूर्वी क्षेत्र से मूंगफली के निर्यात को बढ़ाने की संभावनाओं के द्वार खोलने के तहत पश्चिम बंगाल से नेपाल को 24 मीट्रिक टन (एमटी) मूंगफली का निर्यात किया गया है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने बताया कि पश्चिम बंगाल के मिदनापुर जिले के किसानों से मूंगफली खरीदी गई और उसे कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपेडा) के साथ पंजीकृत कोलकाता की लाडूराम प्रोमोटर्स प्रा.लि. ने निर्यात किया है।

भारत करता है इन देशों को निर्यात

उल्लेखनीय है कि 2020-21 के दौरान भारत ने 5381 करोड़ रुपये की कीमत की 6.38 लाख टन मूंगफली का निर्यात किया है। भारत से मूंगफली मुख्य रूप से इंडोनेशिया,वियतनाम,फिलीपींस, मलेशिया,थाईलैंड,चीन,रूस,युक्रेन,संयुक्त अरब अमीरात और नेपाल जैसे देशों को निर्यात की जाती है।

इससे पूर्वी-इलाके की निर्यात क्षमता में होगा इजाफा

पारंपरिक रूप से देखा जाये तो मूंगफली के निर्यात में गुजरात और राजस्थान की बड़ी हिस्सेदारी है। अब पश्चिम बंगाल से मूंगफली के निर्यात करने पर देश के पूर्वी इलाके में फसल की निर्यात क्षमता में काफी इजाफा होगा। पीनट डॉट नेट (peenut.net) जैसी पहलों के जरिये एपेडा ने मूंगफली के निर्यात को नया आकार दिया है। इस प्रक्रिया में खरीदने वाले का पंजीकरण, अपेडा में पंजीकृत मूंगफली इकाइयों द्वारा सामान के बैच का निर्धारण, निर्यात प्रमाण-पत्र के लिये आवेदन और निर्यातक द्वारा कंटेनरों में माल भरने का प्रमाण-पत्र शामिल है।

पिछले साल से अधिक होगा उत्पादन

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने तिलहन के उत्पादन का जो अग्रिम अनुमान लगाया है, उसके अनुसार 2020-21 में मूंगफली उत्पादन 101.19 लाख टन होगा, जबकि 2019-20 में इसका उत्पादन 99.52 लाख टन था।

इन राज्यों में होती है सबसे अधिक मूंगफली

देश में गुजरात मूंगफली का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है। उसके बाद राजस्थान, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश,कर्नाटक,मध्य प्रदेश,महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल आते हैं। मूंगफली की फसल खरीफ और रबी, दोनों मौसमों में होती है। कुल पैदावार में खरीफ मौसम का हिस्सा 75 प्रतिशत से अधिक है।

पिछले साल हुआ था काफी निर्यात

मूंगफली की अधिक पैदावार के लिए कई बातों को ध्यान में रखना पड़ता है। बीज की सही मात्रा के साथ, खाद की मात्रा का भी ध्यान रखना होता है। भारत सरकार ने वित्त वर्ष 2019-20 में 711.4 मिलियन यूएस डॉलर की मूंगफली निर्यात की थी। इसका मतलब हुआ कि भारत ने दूसरे देशों को करीब 5,100 करोड़ रुपए की मूंगफली बेची है। आपको बता दें, भारत में मूंगफली की खेती किसान बहुतायत में करते हैं और इससे किसानों की अच्छी कमाई भी होती हैं।

2021 में भारत के कुल निर्यात में हुई 67% की वृद्धि

गौरतलब है कि इस महामारी में भी भारत ने अपने निर्यात में 2020 और 2019 के मुकाबले वृद्धि दर्ज की है। वाणिज्य सचिव डॉ. अनूप वधावन ने बीते सप्ताह कहा कि भारत का निर्यात प्रदर्शन प्रभावशाली बना हुआ है। मई 2021 में व्यापारिक निर्यात के अनंतिम आंकड़ों में मई 2020 की तुलना में 67.39% और मई 2019 की तुलना में 7.93% की महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है।

Share