सेहत

अगर ये लक्षण है तो जरूर कराये कोविड टेस्ट

नई दिल्ली । कोरोना वायरस नाम की महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है। आए दिन बढ़ते संक्रमितों की संख्या लोगों के बीच परेशानी का सबब बनती जा रही है। वैज्ञानिक भी लगातार इस महामारी से बच निकलने के उपाय ढ़ूंढ़ रहे हैं। बावजूद इसके अभी तक कोरोना से निजात पाने में सफलता नहीं मिल पाई है।

कोरोना को खत्म करने के लिए वैज्ञानिक आए दिन नए-नए शोध कर रहे हैं। जिससे कभी लोगों की हैरानी बढ़ती है तो कभी परेशानी। अभी तक कोरोना के बारे में कहा जा रहा था कि यह मुख्य रूप से एक वायरल संक्रामक बीमारी है, जो एक बीमार व्यक्ति के खांसने, छींकने या छूने से एक स्वस्थ व्यक्ति को फैल सकती है। कोरोनावायरस बीमारी के सामान्य लक्षणों में बुखार, खांसी, गले में खराश, कभी-कभी सिरदर्द और थकान शामिल हैं।

हालांकि, दुनिया भर के डॉक्टर और वैज्ञानिक जो COVID-19 रोगियों का इलाज और उनके बारे में अध्ययन कर रहे हैं, वे कोरोनवायरस से संक्रमित लोगों द्वारा प्रदर्शित किए जा रहे नए लक्षणों का भी तेजी से अवलोकन कर रहे हैं। कोरोना फेफड़ों को प्रभावित नहीं करता है बल्कि यह शरीर के अन्य अंगों को भी नुकसान पहुंचा रहा है। कोरोना के कुछ लक्षण मुंह पर भी दिखाई देने शुरू हो गए हैं जिनका आप आसानी से पता लगा सकते हैं।

साल 2021, जनवरी में ऐसा ही एक अलग लक्षण ‘COVID Tongue’ के बारे में शोधकर्ताओं को पता चला है। इसके बारे में लंदन के किंग्स कॉलेज के एक प्रसिद्ध ब्रिटिश महामारी एक्सपर्ट प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने अपने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर करके बताया। प्रोफेसर टिम स्पेक्टर के अनुसार, COVID-19 के असामान्य गंभीर लक्षणों में से एक मुंह में भी विकसित हो सकता है।

NIH अध्ययन के अनुसार, कोरोना के मुंह से जुड़े लक्षण हल्के और गंभीर हो सकते हैं। यह लक्षण उनमें भी दिख सकते हैं जिनमें कोरोना के बाकी लक्षण जैसे खांसी या बुखार नहीं हैं। वैज्ञानिक पत्रिका नेचर मेडिसिन में प्रकाशित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा किए गए एक नए अध्ययन के अनुसार, कोरोना वायरस के लगभग आधे पीड़ित संक्रमण के दौरान मुंह के लक्षणों से पीड़ित होते हैं।

कोविड टंग-
यह एक वायरल लक्षण है। इसमें कोरोना व्यक्ति की जीभ को प्रभावित करता है। जिसकी वजह से रोगी की जीभ की सतह पर जलन और सूजन महसूस होती है।

जीभ का रंग बदलना-
कोरोना के मरीजों में जीभ का रंग बदलना जैसे लक्षण भी देखे जा रहे हैं। मुंह में जलन और सूजन जीभ को अजीब महसूस करा सकते हैं। इससे मुंह में जलन, होंठ और जीभ में झुनझुनी हो सकती है। यह जीभ के रंग में बदलाव का कारण भी बन सकता है।

जीभ पर सफेद पैच-
कोरोना के मरीजों की जीभ पर सफेद पैच भी देखे जा सकते हैं।

ड्राई होंठ-
कोविड सिम्पटम्स स्टडी ऐप के संयोजन में ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट के अनुसार, यदि आप कोरोना से संक्रमित हैं, तो आपके होंठ ड्राई dry lips) और पपड़ीनुमा महसूस हो सकते हैं। होठों की यह समस्या मुंह के अंदर तक फैल सकती है, शोधकर्ताओं ने यह चेतावनी दी। कोरोनोवायरस का यह मौखिक संकेत स्किन से संबंधित लक्षणों की एक छोटी सी समस्या है। यूके में अब तक 46 हजार से भी अधिक लोगों की मौत कोरोनावायरस के कारण हो चुकी है।

मुंह के छाले-
कोरोना के कई रोगियों ने अपने जीभ पर आए उभार या छाले को पिंपल्स यानी मुंहासों के समान बताया है। ये छाले, रैश या बम्प्स बिना कुछ खाए पीए भी काफी दर्दनाक हो सकते हैं। हालांकि, यह जरूरी नहीं कि आपको लाई बम्प्स हो गया है, तो आप कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए हैं। लाई बम्प्स कई बार अधिक मसालेदार भोजन, खाने से एलर्जी या फिर गलती से जीभ कटने की वजह से भी हो सकता है।

इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज-
हालांकि मुंह और जीभ में देखे गए ये बदलाव अभी कोरोना के सटीक लक्षण नहीं माने जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि कोरोना से जुड़े ये लक्षण हर संक्रमित व्यक्ति को प्रभावित करें यह जरूरी नहीं है। लेकिन वायरस के बदलते व्यवहार और मामलों में वृद्धि के साथ, किसी भी लक्षण और अचानक, असामान्य लक्षण को जांचने की जरूरत बताई जा रही है। तो अगर आपको भी इस तरह के लक्षण महसूस हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Related Articles

Back to top button