अगर ये काम करेंगे तो 90% कम हो सकता है कोरोना का खतरा -शोध

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए दुनियाभर के देशों से वैज्ञानिक नई नई खोजें और रिसर्च करने में लगे हैं। कोरोना से बचाव के लिए वैज्ञानिकों ने फेस मास्क और हाथ धोने की क्रिया को सबसे अहम बताया है।

इस बारे में एक नया शोध सामने आया है, इस शोध की माने तो दिन में कम से कम 6 बार हाथों को धोकर और फेस को ढककर कोरोना संक्रमण के खतरे से 90% तक बचा जा सकता है।

इसके पीछे वैज्ञानिकों ने तर्क दिया है कि 90% खांसी-जुकाम की छोटी छोटी पानी की बूंदें इस तरह से रोकी जा सकती हैं। फेस मास्क को लेकर शोधकर्ताओं का कहना है कि ये मास्क बाजार से लाए जाएं ये जरुरी नहीं है, बल्कि घर पर बनाए गये मास्क कहीं ज्यादा बेहतर और सेफ होते हैं।

लेकिन उन मास्कों को लगाने से बचना चाहिए जिनसे हवा अंदर पास होती है। इस बारे में तो अमेरिकी के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने लोगों से अपील की है कि घर पर बने मास्कों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल किया जाए। वहीँ, हाथ धोने को लेकर यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के शोधकर्ताओं का कहना है।

कि कोरोना से बचने के लिए रोजाना 6 से 10 बार तक हाथ जरूर धोने चाहिए। वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस पुरानी सभी महामारियों के जैसा ही है, शायद उनसे स्ट्रोंग लेकिन इसे पानी और साबुन से हराया जा सकता है। एजेंसी