मोह माया में उलझा है इंसान, इसलिए भगवान की प्राप्ति नहीं कर पाया: अनीता शास्त्री

मोह माया में उलझा है इंसान, इसलिए भगवान की प्राप्ति नहीं कर पाया: अनीता शास्त्री

सिरसा।  {सतीश बंसल}। डबवाली रोड पर सरिया फैक्ट्री के नजदीक स्थित श्री श्याम गोवंश उपचार आश्रम में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के तीसरे दिन कथा व्यास अनीता शास्त्री ने कहा कि भगवान व मानव में केवल इतनी दूरी है जितना कि स्वास को अन्दर से बाहर आने समय लगता है। लेकिन मानव इस संसार की मोहमाया के जंजाल में इस तरह उलझ गया है, जिसके चलते वह भगवान को हासिल नहीं कर पाता। इसलिए भगवान की प्राप्ति के लिए ही भगवान ने अपने अंश ब्राह्मण और संतो को मानव के उधार के लिए ही पृथ्वी पर भेजा है।

मानव को भगवान की प्राप्ति के लिए जीवन में संत की आवश्यकता परम रहती है। कथा में बहुत ही सुंदर वामन भगवान की झांकी के दर्शन भी हुए व बहुत ही सुंदर भजनो से कथा का श्रृंगार भी किया गया। इस दौरान ‘मेरी तार प्रभु से जोड़ ऐसा कोई संत मिले” भजन पर श्रद्धालु मंत्रमुग्ध होकर झूम उठे। कथा में प्रधान कमल सोनी, पंडित तरसेम, पंडित धनराज,पराजेंदर सैनी, द्वारका प्रसाद, ओमप्रकाश नोखवाल, सीता राम, रामचंद्र ,मदन लाल सोनू कांडा, सुनील बसरा,बजरंग गोदारा ,डॉ राजेश सहित अनेक श्रद्धालु मौजूद थे।

Share