Home

Mamta Banerjee अस्पताल में भर्ती,सीने में दर्द की शिकायत,पैर में गंभीर चोटें 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम में चुनाव प्रचार अभियान के दौरान कथित हमले के बाद बुधवार को एसएसकेएम अस्पताल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भर्ती कराया गया है। उनके पैर,टखने में गंभीर चोटें आई है। उन्होंने सांस फूलने और सीने में दर्द की शिकायत भी की। हालांकि उनकी स्थिति स्थिर है।अगली बुलेटिन शाम 6 बजे जारी की जाएगी।भाजपा, कांग्रेस और माकपा ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री चुनाव से पहले लोगों की सहानुभूति पाना चाहती हैं। इस घटना के बाद सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं क्योंकि मुख्यमंत्री को जेड-प्लस की सुरक्षा प्राप्त है।

मुख्यमंत्री का बुधवार रात को अस्पताल में एक्सरे किया गया। डॉक्टरों के मुताबिक, ममता बनर्जी के दाएं पैर में सूजन है और गंभीर चोटें आई हैं। ममता बनर्जी के बाएं टखने में भी गंभीर चोट आई है। पैर पर खरोंच के भी निशान हैं। वहीं दायें कंधे पर भी चोट है। उन्हें सीने में दर्द और सांस लेने में दिक्कत भी आ रही है।

डॉक्टर ने कहा कि उन्हें (अस्पताल से) छुट्टी देने से पहले हमें उनकी स्थित पर नजर रखने की जरूरत है। राज्य सरकार ने बनर्जी के उपचार के लिए 5 वरिष्ठ डॉक्टरों की एक टीम बनाई है।बनर्जी पर शाम को चुनाव प्रचार के दौरान पूर्ब मेदिनीपुर के नंदीग्राम में कथित रूप से हमला हुआ। बनर्जी ने आरोप लगाया कि चार-पांच लोगों ने उन्हें धक्का दिया और वे गिर गईं। उनके अनुसार उनके पैर सूज गया और उनके सीने में दर्द और बुखार-सा महसूस हो रहा है।

ममता बनर्जी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि घटना के समय मौके पर कोई स्थानीय पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था। नंदीग्राम से तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ रहीं बनर्जी ने आरोप लगाया कि घटना के पीछे साजिश है। इस सीट पर ममता का मुकाबला उनके पूर्व सहयोगी और अब भाजपा के उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी से है।

तृणमूल कांग्रेस की कार्यकर्ताओं से अपील

टीएमसी ने अपने ट्विटर पर कहा, ‘हम अपने सभी कार्यकर्ताओं से अपील करते हैं कि वे अपनी भावनाओं को बहने न दें। हम आपकी चिंताओं को समझते हैं और हम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के स्वास्थ्य के बारे में आपको अपडेट करते रहेंगे। हम शांति बनाए रखने का अनुरोध करते हैं और उन हमें साधनों का सहारा नहीं लेना चाहिए,जो दीदी को मंजूर नहीं हैं।आइए हम सब उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करें। ‘

Related Articles

Back to top button